जबलपुर लोकायुक्त की कार्रवाई, मंडला में पटवारी को 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा

पटवारी ने ऋण पुस्तिका बनाने के एवज में पांच हजार रुपए की डिमांड करी थी। जिसके बाद शिकायतकर्ता की शिकायत पर लोकायुक्त पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

jabalpur lokayukta

मंडला, डेस्क रोपर्ट। जबलपुर लोकायुक्त (Jabalpur Lokayukta) की टीम ने मंडला (Mandla) में एक पटवारी (Patwari) को रिश्वत (Bribe) लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। दरअसल पटवारी ने ऋण पुस्तिका बनाने के एवज में पांच हजार रुपए की डिमांड करी थी। जिसके बाद शिकायतकर्ता की शिकायत पर लोकायुक्त पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

यह भी पढ़ें…Jabalpur News :इलाज के लिए निजी अस्पताल ने जबरन रोका मरीज को, कलेक्टर ने कार्रवाई के दिए निर्देश

जानकारी के मुताबिक नैनपुर में रहने वाले किसान चंद्रशेखर तिवारी ने लोकायुक्त में शिकायत की थी, कि चंद्रशेखर तिवारी को पटवारी केशव कुमार से अपनी जमीन की ऋण पुस्तिका बनवानी थी। वह बार-बार पटवारी केशव कुमार से संपर्क कर रहा था पर हर बार कुछ न कुछ काम की बात कह पटवारी काम करने से टाल देता था, इस बीच जब किसान ने पटवारी के घर जाकर संपर्क किया तो उसने ऋण पुस्तिका बनाने के एवज में 5 हजार रु की मांग कर डाली जिसकी शिकायत पीड़ित ने जबलपुर लोकायुक्त से की।

लोकायुक्त पुलिस एसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि मंडला के महाराजपुर निवासी चंद्रशेखर तिवारी ने 7 सितंबर को रिश्वत मांगने के मामले की शिकायत की थी। शिकायत में पीड़ित ने बताया था कि उसकी जमीन की ऋण पुस्तिका बनाने को लेकर हल्का नंबर नौ के पटवारी केशव प्रसाद ने उनसे पांच हजार रुपए रिश्वत के रूप में मांगे थे और रिश्वत के पैसे लेकर पटवारी ने उसे उसके घर बुलाया था। वहीं जब चंद्रशेखर ने रिश्वत देने से मना किया तो पटवारी ने उसे धमकाया की रिश्वत के बिना ऋण पुस्तिका नहीं बनेगी। पीड़ित का कहना था कि वह पिछले 6 महीनों से ऋण पुस्तिका के लिए भटक रहा था। जिसके बाद उसने पुलिस की शरण ली।

घर पर दबोचा
9 सितंबर गुरुवार को चंद्रशेखर एसपी के निर्देश पर पांच हजार रुपए के साथ पटवारी केशव प्रसाद के घर पहुंचा । उसी के पीछे पीछे लोकायुक्त की टीम के कमल सिंह, रंजीत सिंह, अतुल श्रीवास्तव, जावेद खान, विजय सिंह, जीत सिंह भी नैनपुर पहुंचे। करीब 11:00 बजे जैसे ही शिकायतकर्ता ने आरोपी पटवारी को रिश्वत दी तो टीम ने उसे धर दबोचा। जिसके बाद आरोपी पटवारी के घर वालों ने जमकर हंगामा किया।

बता दें कि बाद में लोकायुक्त ने आरोपी पटवारी को पकड़ कर उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की। जिसके बाद आरोपी पटवारी को जमानत दे दी गई। वहीं रिश्वत की रकम भी जब्त कर ली है।

यह भी पढ़ें… एक केले ने करवाया हवलदार को निलंबित, जाने क्या है मामला