उज्जैन लोकायुक्त के शिकंजे में फंसा अधिकारी, 5 हजार की रिश्वत लेते सीएमओ ट्रैप

मंदसौर शोभाराम परमार द्वारा 5000 हज़ार रुपये रिश्वत लेते उसके किराए के मकान ग्राम नगरी जिला मंदसौर में रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया। 

मंदसौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में इन दिनों सरकारी अधिकारी कर्मचारियों (Government Employee) पर लोकायुक्त की कार्रवाई जारी है अब मंदसौर में उज्जैन लोकायुक्त पुलिस (Ujjain Lokayukt Team) ने नगर परिषद के प्रभारी सीएमओ को 5 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। आरोप है कि CMO ने किसान से पानी बिल भुगतान करने के बदले रिश्वत की मांग की थी। यह कार्रवाई उज्जैन लोकायुक्त की टीम ने  लोकायुक्त निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव के नेतृत्व में की है। कार्रवाई के बाद से ही कार्यालय में हड़कंप मचा हुआ है।

यह भी पढ़े.. MP Weather : नदी-नाले उफान पर, मप्र के इन जिलों में आज भारी बारिश की चेतावनी

दरअसल, आज उज्जैन लोकायुक्त की टीम ने नगर परिषद नगरी जिला मंदसौर के मुख्य नगर पालिका अधिकारी (CMO) शोभाराम परमार को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है।अभी यहां राजस्व निरीक्षक सीएमओ के प्रभार में है। आरोप है कि परमार किसान से बिल भुगतान के लिए रिश्वत मांग रहा था। इस संबंध में आवेदक कन्हैया लाल धाकड़ पिता पन्ना लाल धाकड़ निवासी ग्राम नगरी तहसील दलोदा जिला मंदसौर ने 15 सितम्बर 21 को लोकायुक्त संगठन उज्जैन में शिकायत की थी। आज शुक्रवार को जब किसान ने 5 हजार रुपये सीएमओ को दिए तो लोकायुक्त उज्जैन की टीम ने नोट पकड़ते ही गिरफ्तार कर लिया।

ये है पूरा मामला

मिली जानकारी के अनुसार, आवेदक कन्हैया लाल धाकड़ पिता पन्ना लाल धाकड़ निवासी ग्राम नगरी तहसील दलोदा जिला मंदसौर ने 15 सितंबर को लोकायुक्त संगठन उज्जैन में पुलिस अधीक्षक  शैलेन्द्र सिंह चौहान से शिकायत की थी कि नगर परिषद नगरी जिला मंदसौर द्वारा गर्मी के दिनों में पानी की समस्या होने से विज्ञप्ति जारी कर टेंडर बुलाया गया था । मेरे द्वारा टेंडर भरा गया जिस पर नगर परिषद नगरी जिला मंदसौर द्वारा दिनांक 3 सितंबर 2021 को मेरे नाम से कार्य आदेश जारी कर मुझे प्रतिदिन मोटर चालू कर पानी सप्लाई करने का पत्र प्राप्त हुआ था ।

यह भी पढ़े.. MP Politics : मप्र राज्यसभा चुनाव से पहले कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा बयान

उक्त मेरे द्वारा अपने कुएं से पानी सप्लाई करने के कार्य के लिए मुझसे नगर परिषद नगर जिला मंदसौर द्वारा ₹15000 प्रति माह के हिसाब से 4 घंटे पानी ट्यूबेल से देने के लिए मुझे भुगतान करने का एग्रीमेंट कराया था।  मुझे परिषद द्वारा फरवरी से जून तक का पेमेंट ₹15000 प्रति माह के हिसाब से कर दिया था।  मेरा जुलाई के 15 दिनों का बकाया पेमेंट रुपए 7500 भुगतान करने के लिए उसको पेमेंट करने के लिए मुख्य नगरपालिका अधिकारी  नगर परिषद नगरीय जिला मंदसौर शोभाराम परमार द्वारा 5000 हज़ार रुपये रिश्वत लेते उसके किराए के मकान ग्राम नगरी जिला मंदसौर में रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया।  टीम में निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव आरक्षक शिवकुमार शर्मा आरक्षक विशाल रेशमिया आरक्षक अनिल अटोलिया आरक्षक श्याम सुंदर शर्मा शामिल थे।