पंचायत सचिव को 20 हज़ार की रिश्वत लेेते लोकायुक्त की टीम ने किया गिरफ्तार

मुरैना, संजय दीक्षित। सबलगढ़ जनपद पंचायत की ग्राम राजा का तोर में पदस्थ पंचायत सचिव संतोष शर्मा को शुक्रवार को लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथों रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया है। पंचायत सचिव संतोष शर्मा को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा गया है। जैसे ही लोकायुक्त की टीम ने पंचायत सचिव को पकड़ा तो डर की वजह से कांपने लगा और कहने लगा उससे गलती हो गई है। बता दें, कि फरियादी रेखा जादौन पत्नी सतेन्द्र सिंह जौदान गांव की सरपंच हैं।उन्होंने कुआं बनवाया था, उसकी मजदूरी का बिल पास करने के लिए बार-बार पंचायत सचिव से कहा था लेकिन पंचायत सचिव आनाकानी करता रहा। उसके बाद पंचायत सचिव ने उनसे कहा कि 30 हजार रुपए दो, तो ही बिल पास होगा। इसके बाद साढ़े 6 हजार रुपए पंचायत सचिव संतोष शर्मा ने बिल पास कराने के एवज में पहले ही कुछ रुपए ले लिए थे, शेष रुपए लेने थे।

इंदौर में कंगना रनौत के ‘आज़ादी’ वाले बयान के विरोध में पुतला दहन, फांसी पर लटकाने की मांग

इसकी शिकायत रेखा जादौन पत्नी सतेन्द्र सिंह जादौन ने ग्वालियर पहुंचकर एसपी लोकायुक्त से की। एसपी लोकायुक्त ने उन्हें टेप रिकॉर्डर देकर कहा कि पहले वे उसकी बातचीत रिकॉर्ड करके लेकर आएं उसके बाद उन्होंने ठीक वैसा ही किया, बाद में तय समय के अनुसार शुक्रवार को पति-पत्नी दोनों सबलगढ़ स्थित मुख्य बाजार में मौजूद चौधरी निवास पर पहुंचे। वहां जाकर उन्होंने संतोष शर्मा को 20 हजार रुपए रिश्वत के दिए वैसे ही संतोष शर्मा ने रुपए अपने हाथ में लेकर जेब में रखने लगे, उसी समय लोकायुक्त की टीम ने उन्हें रंगे हाथों पकड़ लिया। लोकायुक्त टीम ने जब उनसे रुपए निकलवाकर हाथ धुलवाए तो हाथ लाल हो गए। संतोष शर्मा को पकड़ा तो वह डर की वजह से कांपने लगा वह लोकायुक्त टीम के सदस्य से कहने लगा कि उससे गलती हो गई है। अब, दोबारा नहीं होगी। इस कार्रवाई में शामिल लोकायुक्त निरीक्षक ब्रजमोहन सिंह नरवरिया, निरीक्षक भरत सिंह किरार, निरीक्षक अंजलि शर्मा, पंकज शुक्ला तथा अतर सिंह रावत मुख्य रुप से शामिल थे।