मुरैना, संजय दीक्षित। जिला प्रशासन अवैध कॉलोनाइजरों पर सख्ती से कार्रवाही कर रहा है। यह कार्रवाही शासन के निर्देशन पर कलेक्टर बी कार्तिकेयन के मार्गदर्शन में अनुविभाग अधिकारियों के स्तर पर की जा रही है। मुरैना अनुविभाग एसडीएम आरएस बाकना के निर्देश पर शनिवार को गंजरामपुर, भोड़ेरी, बड़ोखर में दो-दो काॅलोनियों की अवैध सड़कों को नष्ट किया और चारों ओर से बनाई गई बाउण्ड्रवाॅल को तोड़ा गया हैं।

एसडीएम मुरैना ने बताया कि अवैध काॅलोनियां बिना अनुमति के काटी जा रहीं थी जिसमें किसी भी कॉलोनाइजरो ने नगर निगम, माइनिंग, राजस्व सहित अन्य काॅलोनी काटने की अनुमतिय लेना उचित नहीं समझा हैं। जिस कारण अवैध काॅलोनियों पर बनाई गई सड़कों, बाउण्ड्रीवाॅल और गेटों को ध्वस्त किया गया है। कॉलोनाइजरों के द्वारा एनओसी भी नही ली गयी थी जिसके कारण निगमायुक्त ने मदाखलत अमले को ले जाकर सीमेंट से बनी सड़कों और दरवाजों को जमीदोंज किया गया और साथ ही आसपास बने निर्माण कार्य को भी हटाया जिसकी कीमत करोड़ों में बतायी गयी हैं। आइल साथ ही जौरा प्रशासन द्वारा तीसरे दिन ग्राम आलापुर क्षेत्र में डायवर्सन एनओसी बिना लेआउट पास कराए प्लॉट काटकर बनाई जा रही कॉलोनियों के कॉलोनाइजर राजकिशोर पुत्र रमेश त्यागी, मुंशी पुत्र विश्राम यादव, भूरा और सुल्तान द्वारा सड़क डालकर बनाई जा रही दो कॉलोनियों पर एसडीएम नीरज शर्मा के नेतृत्व में टीम ने मौके पर पहुंचकर जेसीबी मशीनों से सड़कों को जमींदोज करने की कार्यवाही की है। जिनकी कीमत प्रशासन द्वारा 80 लाख के आसपास बताई गई हैं। इस पूरे मामले में प्रापट्री डीलरों का कहना है कि प्रशासन के द्वारा पक्ष पात किया जा रहा है क्यों कि दो दिन में जो प्रशासन के द्वारा तोड़फोड़ की गई थी ठीक उनकी जमीन के आसपास की जमीन को प्रशासन ने किसी दबाब में छोड़ा दिया हैं। जबकि कार्यवाही करनी है तो सभी अवैध कॉलोनाइजरों के खिलाफ कार्यवाही करनी चाहिए थी। अतिक्रमण हटाने के दौरान नगर निगम कमिश्नर अमरसत्य गुप्ता, खनिज अधिकारी एसके निर्मल,एसडीएम जौरा नीरज शर्मा, प्रभारी तहसीलदार कल्पना शर्मा, थाना प्रभारी देवेंद्र सिंह कुशवाह, नगर परिषद के उपयंत्री ऋषिकेश शर्मा, तहसीलदार, थाना स्टेशन रोड़ का पुलिस स्टाफ, राजस्व अधिकारी उपस्थित थे।