सूटकेस में बम मिलने से दुकानदारों में मची अफरा-तफरी, मौके पर भारी संख्या में पहुंचा पुलिस बल

पुलिस ने महादेव नाका क्षेत्र की सभी दुकानों को कुछ ही मिनटों में बंद करा दिया और आवागमन को रोक दिया।

मुरैना, संजय दीक्षित। मुरैना (Morena) शहर के सबसे व्यस्त इलाकों में गिरिराज जी मंदिर के पास महादेव नाका पर रविवार की दोपहर बम की सूचना ने हड़कंप मचा दिया। पुलिस ने आसपास खड़े सारे लोगों को खदेड़ दिया और टीम ने पूरे क्षेत्र को घेर लिया। बम स्क्वाइड व स्निफर डाग लावारिस मिले सूटकेस की जांच पड़ताल कर ही रहे थे, तभी हल्के धमाके के साथ सूटकेस में ब्लास्ट हो गया और अफरा-तफरी मच गयी।

यह भी पढ़े…भ्रष्टाचार के लिए जीरो टॉलरेंस पर नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह ने उठाये सवाल, सीएम शिवराज को लिखा पत्र, कही ये बड़ी बात

एसपी ने बताया कि यह माकड्रिल है, लेकिन जिस तरह यह माकड्रिल हुआ, उससे बाजार में हडकंप मच गया और व्यापारी दहशत में दिखाई दिए। तभी स्टेशन रोड थाना प्रभारी आशीष राजपूत बाजार में गश्त कर रहे थे, इसी दौरान उन्हें सूचना मिली कि महादेव नाका पर गिर्राजजी मंदिर के ठीक सामने एक सूटकेस लावारिश हालत में पड़ा हुआ हैं। इस सूटकेस की हर सेकंड के साथ बीप-बीप की आवाज सुनाई दे रही थी। थाना प्रभारी ने सूटकेस खोलकर देखा तो उसमें मोटरसाइकल की बैट्री व कुछ अन्य यंत्र लगे थे, जिसे बम बताया गया। सूचना मिलते ही शहर के चारों थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने महादेव नाका क्षेत्र की सभी दुकानों को कुछ ही मिनटों में बंद करा दिया और आवागमन को रोक दिया।

यह भी पढ़े…फिर धमाल मचाएंगे अल्लू अर्जुन, शुरू की गई Pushpa 2 की शूटिंग, सेट से वायरल हुई तस्वीरें

सूटकेस में बम मिलने से दुकानदारों में मची अफरा-तफरी, मौके पर भारी संख्या में पहुंचा पुलिस बल

इस दौरान सराफा बाजार, स्टेशन रोड, मारकंडेश्वर बाजार, हनुमान चौराहा और रुई की मंडी क्षेत्र में हजारों लोगों की भीड़ जुट गई, वाहनों की भी कतार लग गई। सूटकेस में रखे बम की जांच के लिए बम स्क्वाड दल, स्निफर डाग को बुलाया गया।एसपी आशुतोष बागरी भी मौके पर पहुंच गए। इस दौरान एसपी, सीएसपी आदि पुलिस अफसर लोगों को बार-बार कह रहे थे कि यह माकड्रिल या कोई नाटक नहीं है, इसमें बम है, कभी भी धमाका हो सकता है। इसी बीच ब्लास्ट हुआ और सूटकेस के चिथड़े उड़ गए। बाद में एसपी ने कहा, कि यह माकड्रिल थी। यह सुनते ही लोगों ने राहत की सांस ली लेकिन कई व्यापारी व राहगीर पुलिस को भलाबुरा कह रहे थे। मौके पर पहुँचे पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मॉकड्रिल के समय कई खामियां मिली जिनको पुलिसकर्मियों को समझाइश दी गई। जिससे कि आगे होने वाली गलतियों को सुधारा जा सके। मौके पर फायर बिग्रेड और एंबुलेंस की टीम को भी बुलाया गया था।