एमपी में एक और वारदात..अब भाजपा नेता की भाभी की हत्या

Another-incident-in-MP--Now-BJP-leader's-sister-in-law-murdered-in-neemuch

नीमच।

मध्यप्रदेश में सरेआम हत्याओं का दौर थमने का नाम नही ले रहा है। एक के बाद एक नृशंस हत्याओं के मामले सामने आ रहे है। अब  भाजपा के ग्रामीण मंडल महामंत्री लालसिंह आंजना की भाभी सीताबाई आंजना (60) की हत्या कर दी गई।बताया जा रहा है वे खेत में फसल देखने गई थी और वहां उनकी हत्या हो गई। घटना के बाद से ही शहर में सनसनी फैल गई है।  पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है। घटना के बाद से कानून व्यवस्था पर फिर सवाल उठने लगे है।

मिली जानकारी के अनुसार, घटना शुक्रवार शाम 4 से 6 बजे के बीच की बताई जा रही है। सीताबाई आंजना अमलावदिया गांव में स्थित अपने खेत पर फसल देखने गई थी। जहां बदमाशों ने उन पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया।।। उनके कान, सिर और गले पर वार किए। हत्या करने के बाद बदमाश मृतका के दोनों कान की 1 तोले की दो मुरकी, 2 तोले की तीन मोहरे, मंगल सूत्र सहित लगभग डेढ़ लाख के जवरात लूटकर भाग गए। देर शाम 7 बजे तक सीताबाई घर नहीं लौटी तो पुत्र संजय और इंदर खेत पहुंचे। यहां मां की खून से लथपथ लाश मिली। दोनों लाश लेकर घर पहुंचे। 

सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर जा पहुंची और परिजनों से बयान दिए। घटनास्थल पर फैले खून के सैंपल फोरेंसिक जांच के लिए गए हैं। महिला का शव पीएम के लिए सरकारी अस्पताल में रखा है। मामले में अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि लूटपाट के इरादे से हत्या हुई या फिर इसके पीछे कोई साजिश है।पुलिस को पारिवारिक रंजिश या परिवार की किसी से दुश्मनी जैसा भी कोई क्लू अभी नहीं मिला है।  घटना के बाद से ही गांव में तनाव का माहौल है। गांव वालों का कहना है कि पहली बार इस बार इतनी बड़ी वारदात हुई है। अब तक केवल यहां छोटी मोटी चोरी या लूटपाट ही होती रही है। लेकिन यू सरेआम हत्या का मामला पहला है। वही पुलिस ने अज्ञात बदमाशों पर मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

गौरतलब है कि प्रदेश में लगातार बीजेपी के कार्यकर्ताओं की हत्या के मामले सामने आ रहे हैं। अभी तक तीन बीजेपी कार्यकर्ताओं की मौत के मामले प्रदेश के अलग अलग जगहों से सामने आए हैं। बीजेपी ने बढ़ते अपराध को लेकर कांग्रेस सरकार को कटघरें में खड़ा कर दिया है। बीजेपी का आरोप है कि सरकार इन मामलों को लेकर गंभीरता नहीं दिखा रही है। अब संघ कार्यकर्ता की हत्या के बाद भाजपा नेता की भाभी की हत्या को लेकर कानून व्यवस्था पर सवाल उठने लगे है।