निवाड़ी, मयंक दुबे। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के निवाड़ी जिला प्रशासन ने ओरछा के प्रतापपुरा (Pratappura) औद्योगिक क्षेत्र में बड़ी कार्यवाही की है। जहां प्रदुषण के चलते भगवती ग्रेनाइट क्रेशर को बंद करने के आदेश दिए है। बता दें कि आस-पास के रहवासियों ने बढ़ते प्रदुषण को लेकर प्रशासन को शिकायत की थी। जिसके बाद एनजीटी (National Green Tribunal Act) की टीम और पॉल्यूशन बोर्ड (Pollution Board) के अधिकारियों ने क्रेशरों की जांच की थी। जांच के बाद सभी क्रेशर संचालक एनजीटी व प्रदूषण नियमों के पालन करने के सख्ती से निर्देश दिए गए थे। वहीं पालन नहीं करने पर यह कदम प्रशासन द्वारा उठाया गया है।

यह भी पढ़ें….Chhatarpur News: समस्या की जगह भेंट लेकर कलेक्टर के सामने पहुंचा व्यक्ति

Niwari News: प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, भगवती ग्रेनाइट क्रेशर को बंद करने के आदेश

दरअसल, जिले के एसपी के प्रतिवेदन पर जिला कलेक्टर (Collector) आशीष भार्गव ने प्रदूषण व एनजीटी के मापदंडों उलंगघन पर सीआरपीसी 133 के तहत अंतरिम आदेश करते हुए भगवती ग्रेनाइट क्रेशर को बंद करने के आदेश दिए है। गौरतलब है कि प्रतापपुरा औद्योगिक क्षेत्र में दर्जनों क्रेशर है। ऐसे में प्रदूषण को लेकर जिला प्रशासन के द्वारा की गई कार्यवाही से क्रेशर मंडी में हड़कंप मच गया है। मालूम हो की इसके पूर्व भी लोगो की शिकायतों पर एनजीटी की टीम और पॉल्यूशन बोर्ड (Pollution Board) के अधिकारियों ने क्रेशरों की जांच की थी। जांच के बाद सभी क्रेशर संचालक एनजीटी व प्रदूषण नियमो के पालन करने के सख्ती से निर्देश दिए गए थे । लेकिन उसके कुछ संचालक इसके बाद भी नियमो का उलंघन कर रहे थे। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार सिंह के इश्तगासा पर जिला कलेक्टर आशीष भार्गव के द्वारा अंतरिम आदेश क्रेशर भगवती ग्रेनाइट नियमों के उल्लंघन के आरोप में बंद किया है ।

यह भी पढ़ें….Gwalior News: कृषि छात्रों ने लिखा खून से पत्र, राष्ट्रपति और CJI से मांगी इच्छा मृत्यु