खुजनेर उपद्रव: बच्चियों ने रो-रो कर सुनाई हमले की कहानी, शिवराज बोले-7 दिन में कार्रवाई हो

shivraj-singh-chauhan-reached-khujner-district-rajgadh

राजगढ़| मनीष सोनी| जिले के खुजनेर में 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में फिल्मी गाने के दौरान एक वर्ग विशेष द्वारा किए गए विवाद में घायल हुए स्कूली बच्चों एवं पीड़ित लोगों से पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रात 9 बजे मुलाकात की। गणतंत्र दिवस पर हुई घटना के बाद से खुजनेर नगर पूरी तरह से 4 दिन से बंद है। पूरे नगर में धारा 144 लागू है, ऐसे में शिवराज ने खुजनेर से दो किलोमीटर दूर ग्राम भीलखेड़ी में पीड़ित लोगों से मुलाकात की और जनसभा को संबोधित किया। 

खुजनेर में हुई घटना पर अब सियासत होने लगी है। शिवराज ने मंगलवार देर रात वहां पहुंच कर कमलनाथ सरकार पर हमला बोला। शिवराज ने कहा 7 दिन में खुजनेर की घटना को लेकर दोषियों पर उचित कार्रवाई नहीं होती है तो पूरे प्रदेश में आंदोलन किया जाएगा। इस घटना के तार सिमी से जुड़े हैं। मंच पर स्कूली बच्चों से जब शिवराज मिल रहे थे और बच्चों से उस दिन की घटना की जानकारी ले रहे थे, इसी दौरान एक स्कूली छात्रा घटना बताते-बताते रोने लगी,शिवराज एवं सभा में मौजूद लोग भी भावुक हो गए। शिवराज ने बच्ची से सिर पर हाथ फेरा, शिवराज  के आने के बाद क्षैत्र की सियासत गरमाने लगी है। दिग्गी के क्षैत्र में शिवराज ने जोरदार हमला बोला। घटना के बाद खुजनेर में न ही दिग्गी आए और न ही प्रदेश के मुखिया कमलनाथ। इस पूरे मामले का असर आगामी लोकसभा चुनाव में भी दिखाई देगा और इसी को लेकर शिवराज अब कोई मौका हाथ से नहीं जाने देते।  

शिवराज ने कहा घटना बहुत चिंताजनक लेकिन मैं कुछ कहूं उसके पहले मैं अपनी बेटियों से बेटों से उन बच्चों से जोश कार्यक्रम में मौजूद थे मैं पहले उनसे ही चर्चा करना चाहता हूं क्योंकि क्योंकि हम कोई हंगामा खड़ा करने नहीं आए हम जबरदस्ती कोई आंदोलन करने नहीं आए हम कानून का सम्मान करने वाले लोग लेकिन घटना ने बहना के गणतंत्र दिवस के मौके पर कार्यक्रम चल रहा हो और धारदार हथियार लेकर  हमला कर दिया जाए  बच्चों में भगदड़ मच जाए भागदौड़ मत जाए कोई शब्दों प्रदेश में होता है क्या यह सहन करने के लायक हे क्या|  शिवराज ने घटना को सुनने के लिए वहां मौजूद घटना के चश्मदीद बच्चियों को मंच पर बुलाया और अपने पास खड़ा कर माइक देते हुए बोले घटना बताओ , एक बच्ची घटना सुना हुए पूर्व मुख्यमंत्री के समाने रोने लग गई शिवराज ने बच्ची के सिर पर हाथ फेरा बच्ची ने भी रोते हुए , पूरी घटना सुनाई ।।

शिवराज ने कहा दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए मैं किसी को दोष नहीं देना लेकिन इस घटना की गहराई से जांच होना चाहिए मैं  आखिर इस घटना के पीछे कौन है इस घटना से सिमी के तार जुड़े हुए लोग जो समाज मैं सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ कर फिरा शांति का वातावरण पैदा करना चाहते हैं क्या वह लोग आतंक का बजाज बनकर कर फिर से समाज को डर और भय के साए में ले जाना चाहते है | देखिए घटना ऐसे नहीं है मैं समाज के सभी वर्गों से प्यार करता हूं भारत सबका है और हमने हमारे शासन में सब को मान और सम्मान दिया लेकिन इस तरह की घटना करने वाले ना किसी जाति के ना किसी धर्म के उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होना चाहिए|  हम सबकी मांग है कड़ी कार्रवाई हो इनके पीछे कौन है मुझे पता चला पकड़े गए और जमानत हो गई कोई बात है मैं भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस की बात नहीं कर रहा हूं उन्हें शर्म आए आए आय रे उन्हें चुल्लू भर पानी में डूब कर मर जाना चाहिए जो इस घटना पर निंदा करने के लिए एक शब्द तक नहीं बोलो जनता की हितेषी है मित्रों जब से सरकार आई है कुछ लोग खुलकर खेल रहे हैं   गुंडागर्दी बड़ी है अंधेर गर्दी बड़ी है लेकिन वहां साफ़ सुन ले मध्य प्रदेश को आतंक के साए में हम नहीं जीने देंगे किसी भी कीमत में और प्रशासन भी साफ़ सुन ले और बैलेंस का खेल नहीं चलेगा कुछ मुकदमे इधर बना दो कुछ उधर बना दो घटनाएं स्पष्ट है मेरे बच्चों पर हमला हुआ है और उसमें सब बच्चे शामिल थे एक धर्म के नहीं थे सब बच्चे सम्मिलित थे बच्चों पर हमले बर्दाश्त नहीं करेगा मामा किसी भी कीमत पर|