जावरा किराना व्यापारी गोली कांड के 3 आरोपी गिरफ्तार

रतलाम/जावरा।सुशील खरे।

देखत में छोटे लगें घाव करें गंभीर ये कहावत रतलाम जिले जावरा में चरितार्थ हुई यहां पर इन 3 आरोपो ने कहा हातिम, हमने तुम्हारी जान की कीमत ₹2500000 लगाई है.. 2500000 तैयार रखना नहीं तो गोली चलेगी.. धमकी देकर फिरौती वसूलने वाली एक गैंग का जावरा पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। रतलाम एसपी ने इस पूरे घटनाक्रम का खुलासा किया पढ़े पूरी स्टोरी…

रतलाम जिले के जावरा में कमानी गेट के समीप हातिम ट्रेडर्स के संचालक 30 साल के हातिम अली बोहरा को पिछले दिनों गोली मार दी गई थी। उसकी दुकान पर दो बदमाश मोटरसाइकिल लेकर आते हैं और एक अपराधी उसके पैरों में गोली मार कर भाग जाता है। इस मामले को लेकर जावरा पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया । और सीएसपी पीएस राणावत और टीआई वीडी जोशी ने नाकाबंदी कर जांच शुरू की यह पूरा मामला शुरू से ही फिरौती वसूली से जुड़ा लग रहा था।पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने पूरे मामले का खुलासा करने के लिए अपराधियों पर इनाम घोषित किया। इसके अलावा 6 टीम बनाई गई। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक पुलिस कप्तान की रणनीति एक बार फिर सफल रही है । इस मामले में जावरा के रहने वाले असलम हड्डी और शादाब दोनों निवासी काजी गली जावरा को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों आरोपियों ने इन अपराधियों ने पनाह दी थी जो मंदसौर और राजस्थान से गोली चलाना आए थे ।

दरअसल इन अपराधियों का पूरा गैंग है, जो धमकी देकर फिरौती वसूलते है । इस पूरे मामले में गोली चलाने वाले शहनवाज और अजहर की पुलिस को तलाश है। एक आरोपी अरशद मेव खिलचीपुर मंदसौर का रहने वाला है जबकि दूसरा राजस्थान के प्रतापगढ़ का है। असलम ने दोनों अपराधियों को पनाह दी थी। इसके अलावा शादाब ने अपनी मोटरसाइकिल वारदात के लिए दी थी। इस मामले में मंदसौर का एक अन्य आरोपी पकड़ा है।पुलिस अधिकारियों के मुताबिक अभी गोली चलाने वाले शहनवाज और अजहर फरार है। दोनों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है । जबकि 30,000 के तीन इनामी बदमाश गिरफ्तार लिया है। पुलिस अधिकारी के मुताबिक बदमाशों का अंतर्राज्यीय गिरोह है।

पुलिस कप्तान ने लोगों से अपील की है कि अगर उनके पास भी धमकी भरा फोन आया हो तो शिकायत कर सकते हैं । उन्होंने यह भी बताया कि इस वारदात को लेकर अपराधियों की तलाश में उज्जैन महिदपुर, मंदसौर, जावरा प्रतापगढ़ सहित कई स्थानों पर छापामार कार्रवाई भी की गई है बताया जाता है कि गोली चलाने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद और भी खुलासे हो सकते हैं।