कोरोना पर भारी रिश्वतखोरी, रंगे हाथों पकड़ाए दो पटवारी

रतलाम| सुशील खरे| कोरोना संकट काल में जहां संक्रमितों के मामले थम नहीं रहे हैं| वहीं प्रदेश में रिश्वतखोरी के मामले भी लगातार सामने आ रहे हैं| प्रदेश के रतलाम जिले में लोकायुक्त पुलिस ने आज एक साथ दो पटवारियों को रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है।

जिले के दो पटवारी वीरेंद्र सिंह सोलंकी और विजय सिंह मुनिया के द्वारा रिश्वत मांगे जाने की शिकायतें लोकायुक्त पुलिस को मिली थी। जिसके बाद सोमवार को लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी पटवारियों को रिश्वत लेते रंगेहाथों धर दबोचा। दोनों पटवारियों ने पावती बनाने के नाम के एवज में रिश्वत की मांग की थी।

जानकारी के मुताबिक जमीन बंटवारे और नयी पावती बनाने के लिए फरियादी सोहेल खान से कलेक्टर कार्यालय में दस हजार रुपये रिश्वत लेते हुए पटवारी वीरेन्द्र सिंह सोलंकी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं उज्जैन लोकायुक्त डीएसपी वेदांत शर्मा के नेतृत्व में आलोट में कार्रवाई की गई| सूचना थी की पटवारी विजयसिंह मुनिया द्वारा पावती बनाने के लिए रुपए की मांग की जा रही है। इसके लिए दो हजार रुपए का रेट फिक्स किया हुआ है। इस मामले में शिकायत नेपाल सिंह निवासी अरवलिया ने की थी। कुछ रुपए पूर्व में ले लिए थे। पूरे मामले में सिंह ने लोकायुक्त को शिकायत की। इसके बाद कार्रवाई करते हुए सोमवार को पटवारी को रंगे हाथों पकड़ा गया।