Shahdol News: लोकायुक्त की कार्रवाई, रिश्वत के साथ रंगे हाथों धराए पंचायत समिति सचिव

शहडोल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) में भ्रष्टाचारियों (corrupt) पर कार्रवाई जारी है। दरअसल प्रधानमंत्री आवास (PM aawas) में काम करने वाली की मजदूरी और तीसरी किस्त (third installment) जारी करने के एवज में रिश्वत (bribe) की मांग करने वाले पंचायत सचिव (panchayat secretary) पर बड़ी कार्रवाई की गई है। मामला मध्यप्रदेश के शहडोल (Shahdol) जिले का बताया जा रहा है।

दरअसल प्रधानमंत्री आवास में काम करने की मजदूरी और तीसरी किस्त जारी करने के एवज में पंचायत सचिव आदित्य तिवारी (aditya tiwari) द्वारा 3500 रूपए की रिश्वत की मांग की गई थी। इस मामले की जानकारी लोकायुक्त पुलिस (lokayukt police)  को लगी तो उन्होंने पंचायत सचिव को पकड़ने का प्लान तैयार किया।

Read More: सड़क दुर्घटनाएँ रोकने के लिये सरकार ने की तैयारी, “विजन जीरो मध्यप्रदेश” का शुभारंभ बुधवार को

जानकारी की माने तो गत दिनों लोकायुक्त कार्यालय रीवा में शिव कुमार पटेल (shiv kumar patel)  द्वारा आदित्य तिवारी पंचायत सचिव, ग्राम पंचायत सनोसी शहडोल पर मजदूरी जारी करने और तीसरी किस्त देने की एवज में रुपए की मांग किए जाने का आरोप लगाया गया था। इस दौरान शिकायत सही पाए जाने पर मंगलवार को लोकायुक्त पुलिस ट्रैकिंग (tracking) की कार्रवाई शुरू की।

मामले में लोकायुक्त एसपी राजेंद्र वर्मा का कहना है कि शिकायत मिली थी। जिसके पंचायत सचिव को 3500 रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया। इस दौरान पंचायत सचिव आदित्य तिवारी के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला पंजीकृत किया गया था। वही मामले की जांच की जा रही है।

मामले में शिकायतकर्ता शिव कुमार पटेल का कहना है कि प्रधानमंत्री आवास की मजदूरी का पैसा व तीसरी किस्त के जारी करने के लिए 500 रूपए आरोपी ने पहले ही रिश्वत ले लिए हैं। बता दे कि आदित्य तिवारी ने 4000 रूपए रिश्वत की मांग की थी।