RSS के स्वर साधक संगम में शामिल होंगे संघ प्रमुख भागवत, आकर्षण होगी कृष्ण बांसुरी “वेणु”

स्वर साधक संगम, घोष शिविर की तैयारियां अंतिम चरणों में हैं।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) मध्यभारत प्रांत का चार दिवसीय प्रांतीय स्वर साधक संगम (घोष शिविर) (Swar Sadhak Sangam,Ghosh Shivir)का आयोजन 25 नवंबर से सरस्वती शिशु मंदिर केदारधाम परिसर शिवपुरी लिंक रोड, ग्वालियर पर किया जाएगा। घोष शिविर में संघ प्रमुख डॉ मोहन भागवत (Dr. Mohan Bhagwat) भी शामिल होंगे। संघ प्रमुख 26 नवंबर को आएंगे और 28 नवंबर तक रहेंगे। शिविर में वाद्य यंत्रों की प्रदर्शनी लगेगी, जिसमें भारत के संगीत का इतिहास और परंपरागत दुर्लभ वाद्य यंत्रों को प्रदर्शित किया जायेगा।

RSS के स्वर साधक संगम में शामिल होंगे संघ प्रमुख भागवत, आकर्षण होगी कृष्ण बांसुरी "वेणु"

ग्वालियर विभाग संघचालक विजय गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि 25 से 28 नवंबर तक चलने वाले मध्यभारत प्रांत के स्वर साधक संगम (घोष शिविर) का उद्घाटन 25 नवंबर, गुरुवार को दोपहर 03ः00 बजे केदारधाम परिसर में होगा। इससे पूर्व सुबह 10:30 बजे मध्य भारत प्रांत के संघचालक अशोक पांडे यहाँ लगने वाली आकर्षक प्रदर्शनी का शुभारम्भ करेंगे।

ये भी पढ़ें – कृषि मंत्री कमल पटेल का ऐलान : मध्य प्रदेश सरकार देगी छोटे किसानों को फ्री बिजली

विजय गुप्ता ने बताया कि इस प्रदर्शनी में चार श्रेणियां होंगी, जिसमें परम्परागत एवं प्राचीन वाद्य यंत्रों का प्रत्यक्ष रूप से प्रदर्शन होगा। इस ऐतिहासिक प्रदर्शनी में घोष की इतिहास यात्रा को एलईडी के माध्यम से प्रदर्शित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रदर्शनी  में भारत के संगीत के इतिहास में वादकों एवं गायकों का योगदान तथा उनके जीवन परिचय तथा परम्परागत एवं दुर्लभ वाद्य यंत्रों का 40 स्लाइड में चित्रमय प्रदर्शन होगा। यह प्रदर्शनी 25 से 28 नवंबर तक चलेगी, जो आमजन के लिए खुली रहेगी। उन्होंने बताया कि उक्त प्रदर्शनी के इतिहास के बारे में बताने के लिए स्वयंसेवकों व विशेषज्ञों की टोली यहां पर पूरे समय मौजूद रहेगी।

ये भी पढ़ें – भाजपा प्रवक्ता दुर्गेश केसवानी को पीएचडी अवार्ड, डिग्री पाते ही हुए भावुक, छलके खुशी के आंसू

25 को होगा घोष शिविर का उद्घाटन, 26 को आएंगे संघ प्रमुख 

विभाग संघचालक विजय गुप्ता ने बताया कि 25 से 28 नवंबर तक चलने वाले मध्यभारत प्रांत के इस स्वर साधक संगम का उद्घाटन 25 नवंबर गुरुवार को दोपहर 03ः00 बजे केदारधाम परिसर में होगा। घोष शिविर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डाॅ. मोहन भागवत भी आएंगे। डाॅ. भागवत 26 नवंबर को ग्वालियर आएंगे और 28 नवंबर तक शिविर में रहेंगे। इस शिविर में अखिल भारतीय शारीरिक प्रमुख सुनील कुलकर्णी तथा अखिल भारतीय सह शारीरिक प्रमुख जगदीश जी पूरे समय रहेंगे।

ये भी पढ़ें – पाकिस्तान को खदेड़ने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वीर चक्र से सम्मानित

26 को निकलेगा पथसंचलन

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वर साधक संगम(घोष शिविर) में भाग लेने वाले घोष वादकों का पथसंचलन 26 नवंबर को निकाला जाएगा। जिसमें प्रांत के 31 जिलों के 550 घोष वादक शामिल होंगे। 26 नवंबर को समस्त शिविरार्थी फूलबाग स्थित वीरांगना लक्ष्मीबाई समाधि स्थल पर एकत्रित होंगे और यहां से पथसंचलन प्रारंभ होकर शहर के प्रमुख मार्गों से होता हुआ नदी गेट स्वरस्वती शिशु मंदिर पर समाप्त होगा।

RSS के बैंड का आकर्षण होगी कृष्ण बांसुरी “वेणु” 

RSS के बैंड में हमेशा की तरह परंपरागत वाद्य यंत्र शामिल रहेंगे जिन्हें हाथ से और मुंह से बजाया जाता है लेकिन इस बार RSS के बैंड का आकर्षण होगी कृष्ण बांसुरी “वेणु”, बताया जा रहा है कि संघ प्रमुख मोहन भागवत की मौजूदगी में होने वाले प्रदर्शन में पहली बार कृष्ण बांसुरी “वेणु” को शामिल किया जायेगा।