इंसानियत हुई शर्मसार: गोद लिये बेटे ने जमीन से किया बेदखल, मारपीट कर घर से भगाया

सीहोर

अनुराग शर्मा, सीहोर। नि:संतान दंपत्ति को अपने ही बड़े भाई के बेटे को गोद लेना भारी पड़ गया। गोद लिए बेटे ने, 90 साल के वृद्धजनों को 14 एकड़ जमीन से बेदखल कर दिया और मारपीट कर घर से भी भगा दिया। इतना ही नहीं, ग्रामीणों की मदद से वृद्ध-दंपत्ति जब शिकायत करने सिद्धीकगज थाने पहुंचे तो पुलिस ने भी वृद्धजनों का तिरस्कार कर दिया। ये मामला आष्टा तहसील के ग्राम बड़लिया बरामद का है।स्थानीय पुलिस से मदद न मिलने पर वृद्धजन मंगलवार को कलेक्ट्रेट पहुंचे। वहा वृद्धजनों ने जिला प्रशासन से कार्यवाही की मांग करने हेतु आवेदन दिया है।

वृद्ध-दंपत्ति हरिराम और कमला बाई ने बताया की नि:संतान होने के कारण मौखिक रूप से 10 वर्ष पूर्व शोभाराम के बेटे को गांव वालों के सामने गोद लिया था। वृद्धजनों के पास 14 एकड़ कृषि भूमि है इस लालच के चलते कुछ सालों तक तो गोद लिए बेटे ने वृद्धजनों का पालन पोषण किया। लेकिन फिर उसने बूढे मां-बाप की उम्र का भी लिहाज नहीं किया और  मारपीट शुरू कर दी। विरोध करने पर वृद्धजनों की हत्या की धमकी भी दी जाने लगी।

बीते दिनों वृद्धजनों के गोद लिए बेटे ने उनकी जमीन पर अवैधानिक कब्जा कर लिया और मारपीट कर निर्दयता के साथ घर से भगा दिया। फिलहाल वृद्धजनों ने जावर के ग्राम आमला मज्जू मेंं करीबी रिश्तेदार के यहां शरण ले रखी है। वृद्धजनों की मांग है की कब्जा की गई भूमि धोकेबाज गोद लिए बेटे से लेकर वापस दिलाई जाए। साथ ही उसपर सख्त कार्यवाही की जाए।