Sehore News: चिलचिलाती धूप में गर्म रेत पर बैठकर सूर्य साधना कर रहे पागल बाबा, तप को देखने पहुंच रहे सैकड़ों श्रद्धालु

Sehore News : इन दिनों एक ओर लोग जहां गर्मी से परेशान हैं तो वहीं दूसरी ओर सीहोर में जिले भर में अपनी तप की साधना के लिए प्रसिद्ध संत श्री 1008 पागल बाबा खुले आसमान के नीचे रेत के ढेर पर नंगे बदन बैठकर सूर्य साधना कर रहे है। जिन्हें देखने के लिए दूर-दराज से पहुंच रहे हैं। बता दें कि चिलचिलाती धूप में तापमान 45 डिग्री से आम इंसान भीषण गर्मी में कूलर और एसी का सहारा ले रहे हैं लेकिन ये पागल बाबा पिछले एक सप्ताह से प्रतिदिन इसी प्रकार सुबह 9 बजे से 5 बजे तक सूर्य साधना कर रहे है।

पागल बाबा ने दी ये जानकारी

दरअसल, मामला सीहोर जिले से 11 किलोमीटर दूर ग्राम टिटौरा में पागल बाबा के नाम से मशहूर हठ योगी इस भीषण गर्मी में खुले आसमान के नीचे रेत के ढेर पर नंगे बदन बैठकर सूर्य साधना कर रहे हैं। वहीं, मीडिया से बातचीत करने पर बाबा ने बताया कि हम कोई योग नहीं जानते हम तो पागल बाबा है। बता दें कि हर साल पागल बाबा मई महीने की भीषण गर्मी में इसी तरह सूर्य साधना करते है। बाबा का कहना है हम हनुमान जी के भक्त हैं और उन्हीं की कृपा से ऐसा कर पाना मेरे लिए संभव है जो कि हमारा कर्म है। आगे उन्होंने कहा कि इंसान को हमेशा कर्मशील रहना चाहिए। हालांकि, बाबा इस कठिन साधना को कोई नाम नहीं देना चाहते हैं।

तप को देखने पहुंच रहे सैकड़ों श्रद्धालु

पागल बाबा की इस अजीबोगरीब तपस्या से लोग चकित हैं और उनके आशीर्वाद को प्राप्त करने के लिए यज्ञ स्थल पर बहुत सारे भक्त आ रहे हैं। इनके तपस्या को देखकर लोगों के मन में एक ही प्रश्न उठता है कि वास्तव में पागल बाबा यह कैसे कर पा रहे हैं। जब किसी ने पागल बाबा से पूछा कि वे कैसी तपस्या कर रहे हैं तो उन्होंने उत्तर दिया कि वे तपस्या नहीं कर रहे हैं, वे सिर्फ मस्ती कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि तपस्या बहुत बड़ी चीज होती है और जब तक तापमान 45 से 50 डिग्री सेल्सियस के पार नहीं जाता, तब तक उन्हें साधना में आनंद नहीं मिलता।

शांति की खोज में आते हैं लोग

धूप में बैठकर नंगे बदन से तप करना पागल बाबा अवधूत महाराज की विशेषता है। जिसके द्वारा वे खुशहाली और शांति की प्राप्ति के लिए अनुष्ठान कर रहे हैं। वे ध्यान और धुनी रमाकर अपने शरीर को तपा रहे हैं। लोग उनको देखने और सीताराम की मधुर धुन का श्रवण करने के लिए हर दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु वहां पहुंच रहे हैं। यह उनके आंतरिक अनुभव और उनकी आध्यात्मिक जीवनशैली का प्रतीक है जो उन्हें उनके भक्तों के बीच प्रसिद्ध करता है। उनके तपस्या को देखकर और उनकी धुन को सुनकर, लोग आशा और शांति की खोज में आते हैं।

11 दिवसीय दिव्य अनुष्ठान का आयोजन

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, ग्राम बरखेड़ी में आगामी 25 मई से श्री महाविष्णु यज्ञ के साथ-साथ श्रीमद भागवत महापुराण ज्ञान यज्ञ और राजाराम दरबा प्राण-प्रतिष्ठा का महोत्सव आयोजित की जाएगी। इस कार्यक्रम के लिए 1008 संत पागल बाबा अवधूत महाराज के मार्गदर्शन में 11 दिवसीय दिव्य अनुष्ठान का आयोजन किया जाएगा। यह महोत्सव इस तिथि से शुरू होकर 11 दिन तक चलेगा।

विशाल भंडारे का भी होगा आयोजन

बता दें कि 25 मई को सुबह 9 बजे से क्षेत्र के हनुमान मंदिर से भव्य कलश यात्रा के साथ प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा, सुबह 7 बजे से लेकर दोपहर 11 बजे तक यज्ञ एवं सात दिवसीय कथा का आयोजन होगा। शाम 12 बजे से रात 5 बजे तक और हर दिन रात्रि 8 बजे से 10 बजे तक राम नाम सकीर्तन का आयोजन होगा। चार जून को यज्ञ की पूर्ण आहुति के बाद एक विशाल भंडारा भी आयोजित किया जाएगा। जिसके लिए स्थानीय आवासियों ने सभी श्रद्धालुओं से कार्यक्रम में शामिल होकर धर्म का लाभ लेने की अपील की है।

सीहोर से अनुराग शर्मा की रिपोर्ट


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News