पुलिस को मिली बड़ी सफलता, गणित का पेपर लीक करने वाले आरोपी गिरफ्तार

paper-leak-accused-arrest-by-police-in-ashta

आष्टा। मोहम्मद सादिक। 

नगर सहित क्षेत्र मे हमेशा ही शिक्षा जगत को शिक्षा देनेवाले शिक्षक ही चंद रूपये के लालच मे शिक्षा जैसे पवित्र और बच्चों के भविष्य के साथ किस तरह कमजोर नींव डालकर उनका भविष्य बर्बाद करने वाले जब कुछ शिक्षक ही अपराधों की दलदल में चंद रूपये के खातिर इतने गिर जाते है कि सारी सीमाएं पार कर देते है। इस वर्ष दसवीं और बारवीं के बोर्ड की परीक्षा मे  2 ऐसे विवाद हुए कि आष्टा जैसी पवित्र जगह का नाम बदनाम पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बन गया।

 मामला धुराड़ाकला के केंद्र अध्यक्ष और सहायक केंद्र अध्यक्ष के आरोपीयो को पुलिस ने जेल भेजकर रााहत महसूस की थी कि फिर खाचरोद की निजी स्कूल कैंब्रिज के संचालक रूपेष जैन ने बारवी का गणित का पेपर केंद्र अध्यक्ष से सेंटिंग कर 8ः25 पर ही वाट्स अप के माध्यम से लोगो तक पहुच गया। शिकवा शिकायत का दौर चला हमेशा नगर से लेकर जिले के शिक्षा विभाग के बड़े अधिकारी निजी विद्यालय संचाालकों के सामने नतमस्तक नजर होते आ रहे थे। लेकिन जागरूक पत्रकारो ने ईमानदारी से अपनी भूमिका निभाते हुए जिले के तेजतर्रार कलेक्टर गणेश मिश्रा को अवगत कराते हुए शिक्षा विभाग के अधिकारीयों की लापरवाही भी बताई। 

कलेक्टर के संज्ञान में आते ही शिक्षा विभाग में फिर हलचल मच गई। और मजबूरी में ही सही शिक्षा विभाग के अधिकारी को सिद्दीगंज पुलिस को एक शिकायत पत्र देना ही पड़ा जिस पर से पुलिस अधीक्षक एस एस चैहान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समीर यादव द्वारा बारीकी से जांच करने के निर्देश एसडीओपी वीरेंद्र मिश्रा केा दिए जिसको 24 घंटे में ही मिश्रा एवं सिद्दीगंज थाना प्रभारी एम एस कनेश ने दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया और अपने अधीनस्थ के सहयोग से दोनों लालची आरोपीयों को गिरफ्तार भी कर लिया।  एसडीओपी वीरेद्र मिश्रा ने पत्रकारवार्ता में खुलासा करते हुए कहा कि 23 मार्च को बारवीं के गणित पेपर को रूपेष कुमार जैन ने मोबाइल से अपलोड किया था। जो ग्रुप में भी चला गया जिसको जांच उपरांत और जिला शिक्ष अधिकारी एसपी त्रिपाठी के कथन और आरोपी रूपेष जैन अशासकीय केंब्रिज उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का संचालक है जिसने यह अपराध किया था। वही खामखेड़ा जत्रा के केंद्र अध्यक्ष बाबूलाल मालवीय भी संदिग्ध पाए। इसलिए दोनो आरोपीयो के विरूद्ध पुलिस ने विभिन्ना धाराओ के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया। दोनो आरोपीयो को अलग अलग जगह से गिरफ्तार करने मे एसडीओपी वीरेंद्र मिश्रा सिद्दीगंज टी आई एमएस कनेष एएसआई उपेंद्र पराषर जुवानसिह भूरीया अनिल जाट आदि पुलिस जवानो की महत्वपूर्ण भूमिका रही।