Covid-19 : टेन्ट-डेकोरेशन संचालकों का टूट सब्र, शादी समारोह में लोगों की संख्या बढ़ाने की मांग

टेंट संचालकों ने प्रशासन से शादी समारोह में मेहमानों के शामिल होने की संख्या बढ़ाने और रात10 बजे तक डीजे बजाने की अनुमति देने की मांग की।

सीहोर, अनुराग शर्मा। जिस तरह से कोरोना (Covid-19) की दूसरी लहर प्रदेश में कहर बरपा रही है। उससे पिछले साल की तरह इस साल भी स्थिति दोहराने के आसार है। पिछले साल लगे लॉकडाउन के चलते कई लोग बेरोजगार हो गए थे। जहां एक बार फिर कोरोना ने शादी समारोह में टेन्ट, कैटरिंग और डेकोरेशन संचालकों का रोजगार छिन गया है। जहां सीहोर जिले में डीजे, लाईट-डेकोरेशन, टेन्ट, केटरिंग सहित शादी समारोह की विभिन्न व्यवस्थाओं से जुड़े संचालकों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर कलेक्टर के नाम ज्ञापन दिया संयुक्त एसोसिएशन ने जिला प्रशासन से शादी समारोह में मेहमानों के शामिल होने की संख्या बढ़ाने और रात10 बजे तक डीजे बजाने की अनुमति देने की मांग की है।

यह भी पढ़ें:-MP में हो सकता है 2 दिन का लॉकडाउन, जिला आपदा प्रबंधन समूह लेगा अंतिम फैसला

संचालकों का कहना है कि बीते वर्ष 24 मार्च से आज तक बेरोजगारी की मार झेल रहे है। कोरोना रोकथाम गाईडलाईन का बुरा असर व्यावसाय पर हो रहा है। लाखों रूपये का कारोबार प्रभावित होने से सैकड़ों लोगों की रोजीरोटी खत्म हो गई है। हालात ऐसे है कि परिवारो का पालन पोषण करने भी मुश्किल हो गया है। जिले के डेकोरेशन टेन्ट स्टेज केटरिंग संचालक काफी मध्यम परिवार से आते हैं। कई लोगों ने बैंक से लोन लेकर डीजे और वाहन खरीदी हुए है, जिनकी किश्त भी नहीं चुका पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें:-Corona की मार, ऊपर से दर्ज हो गयी एफआईआर

संचालकों की मांग है कि कोरोना गाईडलाईन में राहत प्रदान करते हुए शादी में पहुंचने वाले मेहमानों की संख्या में बढ़ोतरी की जाए। साथ ही कार्यकम में रात 10 बजे तक डीजे बजाने की अनुमति भी दी जाए। सभी डीजे, घोड़ी, लाईट, डेकोरेशन, टेन्ट, स्टेज और केटरिंग संचालकों के द्वारा प्रशासन के कोरोना रोकथाम अभियान में सहयोग किया जा रहा है, लेकिन रोजगार का भी ध्यान रखा जाए।