बगावत पर गिरी गाज, बीजेपी ने इन नेताओं को दिखाया बाहर का रास्ता

bjp-action-against-rebel-leaders-in-shahdol-

शहडोल। चुनावी दौर में बगावत करने वालों की पार्टी के सामने नहीं चली, कुछ को मना लिया गया तो कुछ को बाहर का रास्ता पार्टियों ने दिखाया है| बीजेपी ने बागी नेताओं पर बड़ी कार्रवाई की है| पार्टी ने जिला सहकारी बैंक के पूर्व अध्यक्ष सहित जिला महामंत्री, जिला उपाध्यक्ष सहित कई पदाधिकारियों को निलंबित कर दिया है।

दरअसल, टिकट वितरण के बाद से ही प्रदेश भर में नेताओं ने बागी तेवर दिखाए, कुछ तो अपनी पार्टी के खिलाफ निर्दलीय मैदान में उतर गए तो कुछ नाराज होकर दूसरी पार्टी में चले गए| इस दौरान शहडोल जिले में भी भागमभाग रही| पूर्व मंत्री स्व लवकेश सिंह के पुत्र वीरेश सिंह टिकट वितरण को लेकर नाराज चल थे। कुछ दिन पहले समर्थकों के साथ भाजपा कार्यालय पहुंचकर टिकट बदलने की बात भी कही थी लेकिन हाइकमान द्वारा प्रत्याशी को यथावत रखा गया। जिसके बाद वीरेश सिंह सहित अन्य पदाधिकारियों द्वारा दूसरी पार्टी के प्रत्याशी का समर्थन किया जा रहा था। जिसके बाद बागी नेताओं को समझाइश भी दी गई लेकिन वह नहीं माने|  इससे नाराज भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने सभी बागियों को पार्टी से निष्काषित कर दिया।  

निलंबन की कार्रवाई भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह द्वारा की गई। पूर्व अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक वीरेश सिंह रिंकू, पूर्व अध्यक्ष नगरपंचायत ब्यौहारी उज्जवल केशरी, मंडल अध्यक्ष ब्यौहारी द्वारिका राठौर, जिला महामंत्री अनिल सिंह, जिला मंत्री तीरथ शर्मा, जिला उपाध्यक्ष केपी सिंह बैस को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित किया है। इकमान द्वारा भेजे गए पत्र में कहा कि ये सभी पदाधिकरियों द्वारा विधानसभा 2018 में ब्यौहारी में भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी के विरूद्ध काम कर रहे हैं। भाजपा के वरिष्ठ नेताओं द्वारा समझाने के बाद भी पार्टी विरोधी काम किया जा रहा था। इससे पार्टी की छवि धूमिल हो रही थी। अनुशासनहीनता की श्रेणी में आने पर प्रदेशाध्यक्ष द्वारा यह कार्रवाई की गई है।