Shehdol News: 12 घंटे में 3 और नवजात ने तोड़ा दम, आखिर जिम्मेदार कौन?

इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जांच के निर्देश दिए थे। जिसके बाद अधिकारियों ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सक्रियता दिखाई थी। हालांकि बाद में अस्पताल प्रशासन को बच्चों की मौत के मामले में क्लीन चिट दे दिया गया था।

मौत

शहडोल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) के शहडोल (shehdol) में नवजात बच्चों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। 3 दिन में 8 बच्चों की मौत के बाद आज फिर तीन नवजात बच्चों की मौत हो गई है। 12 घंटे में 3 बच्चों की मौत से एक बार फिर जिले में हड़कंप की स्थिति मच गई है। बता दें कि 6 दिन के अंदर 11 बच्चों की मौत की खबर सामने आई है।

जानकारी के मुताबिक शहडोल जिले के कुशाभाऊ ठाकरे जिला अस्पताल में पिछले 12 घंटे के अंदर तीन नवजात बच्चों की मौत की खबर सामने आई है। गुरुवार की सुबह गंभीर हालत में एक नवजात को निमोनिया की शिकायत पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहीं डिंडोरी से 1 माह के नवजात की भी मौत हो गई है। हालांकि डॉक्टरों ने इसका कारण बच्चे का कम वजन होना बताया है। इसके अलावा आज तड़के सुबह शुक्रवार को एक और नवजात ने दम तोड़ दिया है।

Read More: प्रदर्शन कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, 15 घायल, 15 को भेजा जेल

इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जांच के निर्देश दिए थे। जिसके बाद अधिकारियों ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सक्रियता दिखाई थी। हालांकि बाद में अस्पताल प्रशासन को बच्चों की मौत के मामले में क्लीन चिट दे दिया गया था।

हालांकि इस मामले में अधिकारियों द्वारा अस्पताल को भले ही क्लीन चिट दे दिया गया हो लेकिन लगातार हो रही बच्चों की मौत के बाद जिला अस्पताल सवालों के घेरे में आ गया है। इसके साथ ही साथ 6 दिन में 11 बच्चों की मौत ने मध्यप्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पर बड़ा प्रश्नचिह्न है।