शर्मनाक: पैसे न होने पर बुजुर्ग मरीज को पलंग से बांधा! CM बोले-दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा

114

शाजापुर| कोरोना संकट (Corona Crisis) के दौर में जहां मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर फरिश्ते बनकर लोगों की जान बचने में जुटे हुए हैं| वहीं इसके उलट कुछ निजी अस्पताल (Private Hospital) अमानवीयता का उदाहरण बनकर सामने आ रहे हैं| प्रदेश के शाजापुर (Shajapur) से एक शर्मनाक मामला सामने आया है| जहां पैसे ना होने पर एक निजी अस्पताल ने 80 साल के बुजुर्ग को बंधक बना लिया| बुजुर्ग को पलंग से बांध दिया गया । मामला मीडिया में आने के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया है| वहीं घटना की जानकारी होने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

शाजापुर स्थित सिटी हॉस्पिटल में इलाज कराने आये बुजुर्ग की बेटी का आरोप है कि डॉक्टरों ने पांच दिन तक मरीज का इलाज किया, इस दौरान दो बार उन्होंने इलाज के खर्च के रूप में 6 हजार और 5 हजार की राशि जमा कराई थी। इसके बाद जब उन्होंने पैसे न होने का कारण मरीज को डिस्चार्ज करने की बात कही तो 11270 रुपए का बिल थमा दिया गया| साथ ही अस्पताल ने फ़ाइल भी नहीं दी| आरोप है कि जब मरीज को लेकर अस्पताल से जाने लगे तो बुजुर्ग मरीज को पलंग से बांध दिया गया| हालाँकि अस्पताल की और से कहा जा रहा है कि बुजुर्ग को दिमागी बुखार है। उन्हें झटके भी आ रहे थे। उसके छटपटाने से बोतल लगाने के बाद सुई के टूटने का खतरा रहता है। इसलिए रस्सी से बांधा गया था। वहीं मामला सामने आने के बाद कलेक्टर दिनेश जैन ने जांच के लिए सीएमएचओ को निर्देश दिए हैं| वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी मामले में संज्ञान लिया है|

सीएम ने कहा दोषियों पर सख्त कार्रवाई होगी
मुख्यमंत्री शिवराज ने ट्वीट कर कहा ‘शाजापुर के एक अस्पताल में वरिष्ठ नागरिक के साथ क्रूरतम व्यवहार का मामला संज्ञान में आया है। दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा, सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी’।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here