शिवपुरी में कोरोना कर्फ्यू के नाम पर मनमाने तरीके से किए रास्ते बंद, लोग हो रहे परेशान

मुक्तिधाम को जाने वाला रास्ता भी बड़े-बड़े पत्थर डालकर बंद कर दिया गया है जिससे लोगों को खासी दिक्कत हो रही है।

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। शिवपुरी (Shivpuri) में कोरोना कर्फ्यू (Corona curfew) के नाम पर शहर के कई रास्तों को मनमाने ढंग से बंद कर दिया गया है। जिसके चलते जनता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, हालत यह है कि मुक्तिधाम के लिए जाने वाला रास्ता माधव चौक से सिद्धेश्वर रोड को भी पुराने प्राइवेट बस स्टैंड के पास पुलिया पर बड़े-बड़े पत्थर डालकर बंद कर दिया गया है। इसके अलावा शहर के एक दर्जन से ज्यादा मार्गों को इसी तरह बड़े-बड़े पत्थर, बेरिकेड्स या रेलिंग के सहारे बंद किया गया है वही अगर किसी को रात के समय मेडिकल आवश्यकता पड़ जाए तो जनता का परेशान होना तय है।

यह भी पढ़ें…जूनियर डॉक्टर्स की हड़ताल पर मंत्री विश्वास सारंग का बयान

शिवपुरी शहर के मुख्य रास्तों को एकतरफा निर्णय लेकर बंद किए जाने से लोग इस समय परेशानी में हैं। कारण यह है कि कई मुख्य रास्ते बंद हैं। ऐसे में रात के समय इस कोरोना संकट में किसी व्यक्ति को मेडिकल की आवश्यकता या गंभीर अवस्था में कोई काम पड़ जाए तो उसकी मुसीबत बढ़ना तय है। प्रशासन ने एकतरफा निर्णय लेते हुए यह मार्ग बंद कर दिए हैं। इतना ही नहीं कौन सा रास्ता बंद है और कौन सा रास्ता चालू है इसकी कोई पूर्व सूचना भी लोगों को नहीं दी गई है, हालत ये है कि यातायात के कुछ पुलिसकर्मियों के मन में जहां आया वहां का रास्ता बंद कर दिया है इससे लोग खासे परेशान हो हैं। पत्थर डालकर जिस तरह से मनमाने अंदाज में जिला मुख्यालय पर मुख्य मार्ग को बंद किया गया है ऐसा एक भी उदहारण अभी तक प्रदेश तो छोड़िए देश के भी किसी कौने से सामने नहीं आया, पुलिस प्रशासन को अगर रास्ते बंद ही करना है तो बैरिगेट लगाकर रास्तों को बंद किया जा सकता है और अगर ज्यादा सख्ती करना है तो लगाए गए बैरिगेट के समीप ही पुलिसकर्मियों को ड्यूटी पर तैनात भी किया जा सकता है, लेकिन शिवपुरी में ऐसा नहीं है, यहां तो मनमाने अंदाज में रास्तों को पत्थर मलबा डालकर बंद किया जा रहा है, जिसे लेकर आज शहरभर में चर्चाओं का माहौल गर्म दिखाई दिया।

यह भी पढ़ें…सीएम शिवराज सिंह चौहान की अपील-15 मई तक सबकुछ बंद करें, कर्फ्यू का सख्ती से पालन हो