डबरा : सड़क हादसे में बुझे दो घरों के चिराग, एक युवक की हालत गंभीर

डबरा (Dabra) के इटायल गांव के पास एक रेत से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली ने मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी, जिसमें दो नव युवकों की मौके पर ही मौत हो गई साथ ही एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया।

डबरा, सलिल श्रीवास्तव। डबरा (Dabra) के इटायल गांव के पास एक रेत से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली ने मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी, जिसमें दो नव युवकों की मौके पर ही मौत हो गई साथ ही एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसे प्राथमिक उपचार के बाद ग्वालियर (Gwalior) रेफर कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें…शिवपुरी में बढ़ते कोरोना के चलते शांति समिति की बैठक का आयोजन, कोरोना से बचाव पर हुई चर्चा

जानकारी के अनुसार घटना डबरा के इटायल गांव के पास की बताई जा रही है। जहां युवक मोटरसाइकिल से डबरा से कोचिंग पढ़कर घर जा रहे थे, इसी दौरान रेत से भरे ट्रैक्टर ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। जिससे राघवेंद्र रावत निवासी ईटाइल और सूरज रावत की मौके पर ही मौत हो गई। साथ ही अमर प्रजापति गंभीर रूप से घायल हो गया। वही पास ही खेतों में कंपाइन चला रहे युवकों ने देखा तो वह तत्काल दो युवकों को लेकर डबरा सिविल अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने राघवेंद्र को मृत घोषित कर दिया, वहीं गंभीर रूप से घायल अमर को प्राथमिक उपचार के बाद ग्वालियर रेफर कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि वहां तीसरा युवक भी था, बाद में जाकर लोगों ने पुलिस को सूचना दी और घटना के 1 घंटे बाद डबरा की देहात पुलिस उसे लेकर डबरा सिविल अस्पताल पहुंची, जहां डॉक्टरों ने उसे भी मृत घोषित कर दिया।

हादसे के बाद परिजनों ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप
इस पूरे मामले में मृतकों के परिजन ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए है। उनका कहना है कि मौके पर पुलिस काफी देर से पहुंची थी और टीआई के.डी. कुशवाहा 1500 रु लेकर ट्रैक्टर निकलवाते है। हर दिन तेज़ तरफ्तार से ट्रैक्टर निकलते है। इन आरोपों से रेत माफियाओं और पुलिस का गठजोड़ एक बार फिर उजागर हो गया। वही इस मामले में अस्पताल में भी लापरवाही देखने को मिली, जहां घायल को जमीन पर लेटा कर उसको प्राथमिक उपचार दिया गया। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि डबरा के सिविल अस्पताल की व्यवस्थायें किस तरीके की होगी। वही ट्रैक्टर चालक मौके से भाग गया था, जिसके बाद ट्रैक्टर को डबरा के देहात थाने में जब्त कर लिया गया।