शिवपुरी: जिले में स्मैक के धंधे की चौगुनी हुई रफ्तार, नशे के लिए पैसे न मिलने पर युवक ने लगाई फांसी

स्मैक की लत युवाओं (youngsters) को ऐसी लगी है कि स्मैक पुड़िया की कीमत अगर 50 रुपये की रहती है तो उसे नशे का आदि युवक 200 से 500 रुपये तक खरीदने को तैयार हो जाता है ।

शिवपुरी

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। शिवपुरी (shivpuri) जिले में हर प्रकार का नशा उचित दर में एवं उचित मात्रा में 24 घंटे लोगों को आसानी से उपलब्ध हो रहा है। लेकिन स्मैक (smack) का नशा शराब, बीड़ी, सिगरेट, गांजा इन सबसे अधिक गंदा और घातक (dangerous) है।  जिले के करैरा में इस समय बहुत अधिक युवा वर्ग नशे का आदि हो गया है। स्मैक की लत युवाओं (youngsters) को ऐसी लगी है कि स्मैक पुड़िया की कीमत अगर 50 रुपये की रहती है तो उसे नशे का आदि युवक 200 से 500 रुपये तक खरीदने को तैयार हो जाता है ।

यह भी पढ़ें… Sex Racket : 7 लाख में थाईलैंड से बुलाई कॉलगर्ल, कोरोना से मौत के बाद हुआ मामले का खुलासा

करैरा में अधिकतर युवा वर्ग नशे का आदि हो गया है। ऐसे में जब उनके पास स्मैक के लिये पैसे नहीं होते तो ये लोग घर मे चोरी करके स्मैक के नशे के लिये पैसा जुटाते है । आज एक ऐसा ही मामला सामने आया जो आपका दिल दहला देगा। स्मैक के नशे की वजह से आज 21 वर्षीय युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। राहुल उम्र 21 वर्ष पुत्र सुरेश अहिरवार निवासी दीनदयाल कॉलोनी करेरा शिवपुरी ने दुपट्टे से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। जब पुलिस ने संपूर्ण मामले में पूछताछ की तो स्पष्ट हुआ कि बेटे ने परिवार जनों से नशे के लिए पैसे मांगे थे, पैसे नहीं मिलने पर युवक नाराज हो गया और आत्महत्या कर ली। राहुल ग्रेजुएशन करके भोपाल में अभी पढ़ाई कर रहा था।

यह भी पढ़ें… हाईवे पर चलते ट्रक में लगी आग, मुश्किल से बची ड्राइवर की जान, दवाइयां जलकर खाक

पूर्व में करैरा में ही एक मोटरसाइकिल चुराने के आरोपी ने यह बात उजागर की थी कि हमे स्मैक पीने के लिये पैसों की जरूरत होती है इसलिये बाइक चोरी करते है। करैरा में कुछ बच्चों के माता पिता भी इस धंधे से परेशान हो गये है उनका कहना है पता नही किसके संरक्षण में करैरा में यह स्मैक बिक रही है। हमारे बच्चे इसकी वजह से गलत दिशा में भटक रहे है। इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि नशे की लत लग जाने पर बच्चों को स्वयं के माता पिता दुश्मन समान दिखते है।