मध्यप्रदेश में सड़क चोरी का मामला बना चर्चा का विषय, सुबह बनी सड़क शाम को गायब

सीधी, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश मे सड़क चोरी का सनसनीखेज मामला सामने आया है, यहाँ सीधी जिले में भ्रष्टाचार का यह मामला है, दरअसल यहाँ उपसरपंच ने सीईओ को लिखित शिकायत कर कहा है कि उसके वार्ड में एक रात पहले बनी सड़क सुबह चोरी हो गई है। कागजों में बनी ये सड़क 10 लाख रुपये की लागत से बनाई गई है। मामले की जांच की जा रही है। मामला सीधी जिले के मझौली विकासखंड की ग्राम पंचायत मेंढरा का है।

यह भी पढ़ें….. ‘दो चार दिना की छुट्टी दे देते, हम नई आए तो कोन सो तमाओ सकूल बंद हो जै’ पढ़िये ये मजेदार लीव एप्लीकेशन

गांव के उपसरपंच रमेश कुमार यादव ने मझौली के सीईओ और थाना प्रभारी को पत्र लिखा है। पत्र में बताया गया है कि ग्राम पंचायत में शाम तक एक सड़क बनी थी, जो सुबह चोरी हो चुकी है। पंचायत निधि से एक किमी सड़क 10 लाख रुपये की लागत से बनाई गई है। हालांकि इलाके के ग्रामीणों का आरोप है कि यह सड़क सिर्फ कागजों पर बनकर तैयार हुई है। इस बात की शिकायत ग्रामीणों ने कई बार अधिकारियों को की लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई जिसके बाद ग्रामीणों ने आपसी सहमति से यह फैसला लिया और विरोध और शिकायत के लिए ये तरीका चुना जो अब चर्चा का विषय बना हुआ है। मामले में मझौली जनपद पंचायत के सीईओ ने इस मामलें में जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।