सुपर स्पेशलिटी अस्पताल और मरीज के परिजन के बीच ब्रिज बने सरकारी अफसर

ड्यूटी पर तैनात राजस्व निरीक्षक और पटवारी अस्पताल और मरीजों के परिजनों के बिच समन्वय स्थापित करेंगे , परेशानियां सुनकर उनका हल निकालेंगे यानि राजस्व निरीक्षक और पटवारी अस्पताल प्रबंधन एवं मरीजों के परिजनों के बीच ब्रिज का काम करेंगे।   

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Super Specialty Hospital) में भर्ती कोरोना मरीजों (Corona Patient) की परेशानी को दूर करने जिला प्रशासन के अफसर ब्रिज की भूमिका में दिखाई दे रहे हैं । कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी कार्यालय ने राजस्व निरीक्षक और पटवारियों की राउंड दि क्लॉक 24 घंटे की ड्यूटी लगाई गई है। ये सरकारी अधिकारी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Super Specialty Hospital) में भर्ती मरीजों के परिजनों और अस्पताल प्रबंधन के बीच समन्वय स्थापित करेंगे और परेशानियां दूर करेंगे।

ये भी पढ़ें – कोरोना कर्फ्यू के विरोध में एकजुट हुए व्यापारी, बोले-बिना चर्चा फैसला स्वीकार नहीं

सोमवार को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Super Specialty Hospital) में कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के बाद अस्पताल की लापरवाही और बदइंतजामी की जो तस्वीर सामने आई थी उसने अस्पताल के बेहतर इलाज और प्रबंध की पोल खोल दी थी।  परिजनों के हंगामे के बाद प्रशासन के आला अधिकारी मौके पहुँच गए थे उन्होंने व्यवस्था संभालने के प्रयास किये। उसके बाद कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक (Congress MLA Praveen Pathak) भी अस्पताल पहुंचे और उन्होंने परिजनों की परेशानी सुनने के बाद सुपर स्पेशलिटी अस्पताल प्रबंधन (Super Specialty Hospital) को फटकार लगाई तब कहीं जाकर परिजनों को उनके मरीज को डेड बॉडी मिल पाई। विधायक प्रवीण पाठक ने वहीँ से कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह (Collector Kaushalendra Vikram Singh) को फोन कर सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Super Specialty Hospital) की व्यवस्थाएं सुधारने और अस्पताल में एक हेल्प डेस्क बनाने के लिए कहा।

ये भी पढ़ें – सिंधिया का कटाक्ष- ‘मध्यप्रदेश में सौदेबाजी की जोड़ी नंबर वन है कमलनाथ-दिग्विजय’

विधायक प्रवीण पाठक (MLA Praveen Pathak) के कहने और सोमवार को हुए घटनाक्रम को देखते हुए कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह (Collector Kaushalendra Vikram Singh) ने अपने अफसरों की ड्यूटी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Super Specialty Hospital)में लगा दी है। कलेक्टर ने राजस्व निरीक्षकों और पटवारियों को चार पालियों में 24 घंटे ड्यूटी के आदेश जारी किये हैं। ड्यूटी पर तैनात राजस्व निरीक्षक और पटवारी अस्पताल और मरीजों के परिजनों के बिच समन्वय स्थापित करेंगे , परेशानियां सुनकर उनका हल निकालेंगे यानि राजस्व निरीक्षक और पटवारी अस्पताल प्रबंधन एवं मरीजों के परिजनों के बीच ब्रिज का काम करेंगे।

 

सुपर स्पेशलिटी अस्पताल और मरीज के परिजन के बीच ब्रिज बने सरकारी अफसर