मंत्री

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar) ने रविवार को निरीक्षण के दौरान निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की पोल खोल दी।  एक जगह चल रहे चेंबर के निर्माण को चैक करने जब मंत्री चैम्बर पर उतरे और उन्होंने अपने पैर की एक ठोकर चेंबर की दीवार पर मारी तो भ्रष्टाचार की निर्माण सामग्री से बनी दीवार की ईंटें भरभराकर गिर पड़ीं । इतना ही नहीं ऊर्जा मंत्री यहाँ चेंबर के पास भरे गंदे पानी में गिरते गिरते बच गए। निर्माण कार्य की गुणवत्ता देखकर ऊर्जा मंत्री ने अधिकारियों को जमकर फटकार लगाईं।

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar) रविवार को अपनी विधानसभा ग्वालियर में चल रहे निर्माण कार्यों के निरिक्षण पर निकले उनके साथ कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, नगर निगम कमिश्नर शिवम् वर्मा , एसपी अमित सांघी सहित जिला प्रशासन और नगर निगम के अधिकारी मौजूद थे।  ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने सागर ताल रोड, बहोड़ापुर रोड, शिंदे की छावनी पर पहुंचकर सड़क, सीवर, नालों के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया।

ये भी पढ़ें – ऊर्जा मंत्री तोमर को Twitter पर मिली शिकायत, फीडर प्रभारी निलंबित, 1 को नोटिस

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar) मानसिक आरोग्यशाला के पास चल रहे निर्माण कार्य की गुणवत्ता चैक करने के लिए  चेम्बर की दीवार पर उतर गए।  उन्हें यहाँ घटिया निर्माण क्वालिटी दिखाई दी।  चैक करने के लिए ऊर्जा मंत्री ने दीवार में  पैर की एक ठोकर मारी तो दीवार की ईंटें भरभराकर गिर गईं, ऊर्जा मंत्री ने वहां मौजूद अधिकारियों को निर्माण कार्यों में उपयोग की जा रही सामग्री को हाथ से उठाकर दिखाया।  इस दौरान ऊर्जा मंत्री का बैलेंस बिगड़ गया और वे चेंबर के पास भरे गंदे पानी में गिरते गिरते बच गए।

ये भी पढ़ें – ग्वालियर में मिल सकती है और छूट, सीएम के साथ बैठक में साझा किये सुझाव

घटिया निर्माण कार्य देखकर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar)भड़क गए उन्होंने कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर से नाराजगी जताई और कहा कि ये सब नहीं चलेगा। निर्माण कार्य क्वालिटी के हिसाब से ही होना चाहिए, भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं होगा। जो ठेकेदार सही तरीके से कार्य नहीं कर सकता उसके खिलाफ कार्रवाई करें खास बात ये है कि जब मंत्री निर्माण कार्यों की क्वालिटी चैक कर रहे थे अधिकारी और ठेकेदार बगलें झांक रहे थे।

 ये भी पढें –  फारुख अब्दुल्ला ने किया दिग्विजय का समर्थन, सीएम शिवराज ने कही ये बड़ी बात