बाबा महाकाल की नगरी देगी जल संरक्षण का संदेश, स्थापित हुआ देश का पहला जल स्तंभ

Ujjain News: बाबा महाकाल की नगरी में 27 से 29 दिसंबर तक अंतरराष्ट्रीय जल सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान आज यहां पर 13 फीट ऊंचे देश के पहले जल स्तंभ (Jal Stambh) का अनावरण भी किया गया। जल स्तंभ का अनावरण आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के हाथों हुआ।

आरएसएस सुप्रीमो मोहन भागवत महाकालेश्वर मंदिर पहुंचे जहां उन्होंने बाबा महाकाल का पूजन अर्चन किया। इसके बाद मंदिर के आंगन में स्थापित किए गए 13 फीट ऊंचे 60 किलो चांदी से बने चारों वेदों की ऋचाओं की कारीगरी से तैयार किए गए जल स्तंभ का अनावरण किया। वैदिक मंत्रोचार के साथ इस कार्यक्रम की शुरुआत हुई।

इस कार्यक्रम के दौरान महाकाल मंदिर प्रबंध समिति की ओर से मोहन भागवत का अभिनंदन पत्र से सम्मान भी किया गया। 5 दिसंबर से लगातार मंदिर में सुजलाम जल महोत्सव मनाया जा रहा है और चतुर्वेद पारायण भी हो रहा है। रोज अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं जिसमें आज जल स्तंभ का अनावरण हुआ।

ऐसा है जल स्तंभ

महाकाल के आंगन में स्थापित किए गए जल स्तंभ को 60 किलो चांदी की कोटिंग से तैयार किया गया है। 13 फीट का यह जल स्तंभ पत्थरों से बना हुआ है जिस पर की गई चांदी की कोटिंग पर चारों वेदों की ऋचाओं को उकेरा गया है। इसके चारों ओर रंग बिरंगी लाइट भी लगाई गई है। यह देश का पहला जल स्तंभ है जिसे जल संरक्षण का महत्व समझाने के लिए स्थापित किया गया है।