राहुल लोधी के भाजपा में शामिल होने पर बोले केंद्रीय मंत्री पहलाद पटेल, ‘यह लोकतंत्र की जीत’

भारत सरकार के केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल अपने संसदीय क्षेत्र दमोह पहुंचे, जहां पर उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए कांग्रेस के एकमात्र विधायक राहुल सिंह लोधी के भाजपा में शामिल होने पर अपनी प्रतिक्रिया दी।

central-minister-prahlad-patel-will-now-complete-his-dream-now

दमोह, गणेश अग्रवाल। भारत सरकार के केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल (prahlad singh patel) अपने संसदीय क्षेत्र दमोह (damoh) पहुंचे, जहां पर उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए कांग्रेस के एकमात्र विधायक राहुल सिंह लोधी (rahul lodhi) के भाजपा (bjp) में शामिल होने पर अपनी प्रतिक्रिया दी। इस दौरान प्रहलाद सिंह पटेल ने राहुल सिंह लोधी के भाजपा में शामिल होने और विधानसभा के विधायक पद से इस्तीफा देने को लोकतंत्र की जीत बताया।

केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री पहलाद सिंह पटेल कोरोना से जंग जीतने के बाद पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र दमोह पहुंचे। जहां पर उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि राहुल सिंह लोधी दमोह जिले में कांग्रेस के एकमात्र विधायक थे। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा से प्रभावित होकर पार्टी की सदस्यता ली है, और पार्टी के निर्णय के अनुसार उन्होंने विधानसभा के सदस्य पद से इस्तीफा भी दिया है। यह लोकतंत्र की जीत है कि अब वे फिर से जनता के बीच चुनाव में जाएंगे। उन्होंने इसके लिए उन्हें शुभकामनाएं दी। साथ ही कहा कि जो व्यक्ति किसी पार्टी को छोडक़र और विधायक के पद को छोडक़र दूसरी पार्टी में आता है। उसे मौका मिलना चाहिए और टिकट भी उसे ही मिलनी चाहिए। केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री ने कहा कि बड़ा मलहरा में उपचुनाव हो रहा है। वहां पर भारतीय जनता पार्टी की ही जीत होगी, साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि आगामी दिनों में जब दमोह में उपचुनाव होगा, तो वहां पर भी भाजपा जीत दर्ज कराएगी। राहुल सिंह को भाजपा में शामिल कराने के श्रेय पर पार्टी निर्णय करती है और वही पार्टी में शामिल होता है। इसमें श्रेय का कोई सवाल नहीं है। उन्होंने कहा कि जो दल छोड़ कर के आपके दल में आता है और विधानसभा के सदस्य पद से भी इस्तीफा देता है तो पार्टी की नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि उसे टिकट दिया जाए और चुनाव लड़ाया जाए।