उपचुनाव से पहले कमलनाथ का बयान- यह चुनाव किसी उम्मीदवार का नहीं..

किसान कर्ज माफी पर बोलते हुए कमलनाथ ने कहा था कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार झूठ बोलते हैं जबकि विधानसभा में उनके मंत्री ने उनके झूठ की पोल खोल दी थी।

कमलनाथ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) में 3 नवंबर को 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं। जिसको लेकर राजनीतिक दल ताबड़तोड़ रैलियां कर रही है। इसके साथ ही साथ जनता को लुभाने के लिए नए-नए घोषणा किए जा रहे हैं। इसी बीच अब प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ (PCC Chief Kamalnath) ने कहा कि उपचुनाव (By-election) मध्यप्रदेश को सौदे की राजनीति से मुक्त कराने और सच्चाई की सरकार वापस लाने का चुनाव है।

दरअसल पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने समर्थकों एवं कार्यकर्ताओं के नाम संदेश जारी किया। इसी बीच कमलनाथ ने कहा कि यह चुनाव सच और झूठ का चुनाव है। कमलनाथ ने कहा कि जनता तक यह बात पहुंचने चाहिए कि मध्यप्रदेश में किस तरह सौदेबाजी में सरकार गिराई गई। कमलनाथ ने कहा कि ये चुनाव किसी उम्मीदवार का चुनाव नहीं है। यह मध्य प्रदेश के भविष्य का चुनाव है अपने क्षेत्र के भविष्य का चुनाव है। इसी बीच कमलनाथ ने एक बार फिर नोट के द्वारा शासन खरीदने की बात पर जोर दिया।

Read More: कमलनाथ का सिंधिया पर अटैक- BJP ने दूल्हा तो बना दिया, लेकिन जमाई नहीं बनाएंगे

इससे पहले अपने 15 महीने के कार्यकाल के बारे में बात करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा था। इन 15 महीनों में उन्होंने मध्यप्रदेश के पहचान बनाने के लिए कई सख्त कदम उठाए थे। माफिया बंदी से लेकर मिलावट बंदी तक पर जोर दिया था। किसान कर्ज माफी पर बोलते हुए कमलनाथ ने कहा था कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार झूठ बोलते हैं जबकि विधानसभा में उनके मंत्री ने उनके झूठ की पोल खोल दी थी।

अब पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ के संदेश का उपचुनाव के परिणाम पर क्या असर पड़ता है। यह तो वक्त ही बताएगा। ज्ञात हो कि मध्य प्रदेश में 3 नवंबर को 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान होने हैं। 10 नवंबर को इन 28 विधानसभा सीटों के परिणाम आ जाएंगे। इससे पहले नेताओं को जनता से जनसंवाद जारी है।