निर्भया केस: चौथी बार जारी हुआ डेथ वारंट, अब इस दिन होगी दोषियों को फांसी

दिल्ली।

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले के दोषियों के लिए नया डेथ वारंट जारी कर दिया है। निर्भया के गुनहगारों पवन, अक्षय, मुकेश और विनय को को नए वारंट के अनुसार 20 मार्च सुबह 5:30 बजे फाँसी होगी। हम आप को बता दे कि इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को दोषी पवन की दया याचिका खारिज कर दी थी। जिस के साथ ही चारों दोषियों के सारे कानूनी विकल्प खत्म हो गए हैं। दोषियों की फाँसी अब तक तीन बार टल चुकी है क्योंकि उन्होंने सभी कानूनी विकल्पों का इस्तेमाल नहीं किया था।

वहीं इसी मामले के दोषी मुकेश ने अपना वकील बदल दिया है। गुरुवार को वकील एम.एल. शर्मा ने शीर्ष अदालत में न्यायमूर्ति आर भानुमति के सामने मामले को मेंशन किया। वकील ने कहा है कि वो मुकेश की ओर से अपना पक्ष रखना चाहते हैं। इससे पहले निर्भया केस में दोषी पवन की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को ख़ारिज कर दि थी। शीर्ष अदालत से पवन की क्यूरेटिव याचिका सोमवार को ही खारिज हो चुकी है। इसके साथ ही मामले के चारों गुनहगार की अपील, पुनर्विचार याचिका, कयूरेटिव पेटिशन और दया याचिका का निपटारा हो चुका है। यानि, चारों दोषियों के सभी क़ानूनी अधिकार का उपयोग किया जा चुका है और उनके पास अब कोई विकल्प नहीं बचा है।

निर्भया की मां ने राष्ट्रपति को दिया धन्यवाद 

दोषी पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज करने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि अब उन्हें इंसाफ मिलने की उम्मीद पूरी होने वाली है। वहीं कोर्ट ने चारों दोषियों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की जांच कराने और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) को हस्तक्षेप करने का निर्देश देने की मांग वाली याचिका पर बुधवार को सुनवाई करने से इनकार कर दिया था।