देश में नहीं बढ़ेगा लॉकडाउन, मुख्यमंत्रियों से चर्चा में पीएम मोदी ने दिए संकेत

नई दिल्ली| कोरोना संकट (Corona Crisis) के चलते देश भर में लागू किये गए लॉकडाउन (Lockdown) को अब आगे नहीं बढ़ाया जाएगा| बुधवार को मुख्‍यमंत्रियों के साथ संवाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने फिर से देश में लॉकडाउन लगाये जाने की संभावना पर विराम लगा दिया है| पीएम मोदी ने संकेत दिए कि देश में लॉकडाउन नहीं बढ़ायी जाएगी और छूट का दायरा और बढ़ेगा|

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों के साथ 16 और 17 जून को मैराथन बैठकें की| पीएम ने कल 21 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से चर्चा की थी। दूसरी बैठक बुधवार को 15 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के साथ की गई| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से चर्चा हुई| वीडियो कांफ्रेंस में प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य एवं गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा भी मौजूद रहे|

राज्य सरकार से गतिविधियों को सुरक्षित तरीके से शुरू करने को लेकर सुझाव मांगे गए हैं | कोरोना की रोकथाम के लिए राज्यों को पीएम मोदी ने पूरी मदद का भरोसा दिलाया है| मुख्यमंत्रियों से चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज देश का हर नागरिक वायरस के प्रति पहले से ज्यादा सचेत हुआ है। हमें हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर, इन्फॉर्मेशन सेक्टर, पब्लिक पार्टिसिपेशन पर इसी तरह जोर देना होगा। हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर का विस्तार करना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए। टेस्टिंग पर हमें जोर देना होगा, ताकि संक्रमित को ट्रेस कर सकें और इलाज कर सकें।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बुधवार को वीडियो कांफ्रेंस प्रारंभ होने के पूर्व शहीद सैन्य अफसरों और जवानों को श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी शहीदों को श्रद्धांजलि दी। वीडियो कांफ्रेंस के दौरान भी चीन के विवाद में शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई।

भारत की अखंडता और संप्रभुता से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं
प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में कल एल.ओ.सी पर जो हुआ, उससे प्रत्येक नागरिक आहत है। जिन सैन्य अधिकारियों और जवानों ने सर्वोच्च बलिदान दिया, उन्हें नमन कर श्रद्धांजलि देते हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि भारत अपनी अखंडता और संप्रभुता को सर्वोच्च मानता है। भारत सदैव शांति चाहता है, लेकिन कोई भारत की अखंडता और संप्रभुता से खिलवाड़ करता है तो भारत यथोचित जवाब देने में भी सक्षम है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि त्याग हमारे राष्ट्रीय चरित्र का हिस्सा है। वीरता हमारी पहचान है। मतभेद कभी विवाद न बने, यह हमारा प्रयास रहा है। भारत हमेशा पड़ोसियों के साथ मिलकर कार्य करने में विश्वास रखता है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूँ एकता और संप्रभुता को सर्वोच्च महत्व दिया जाएगा। पूरा देश शहीद सैनिक परिवारों के साथ है। हम एक-एक इंच भूमि और अपने स्वाभिमान की रक्षा करेंगे।