Agnipath: प्रदर्शनकारी युवक ने रोते हुए कह दी इतनी बड़ी बात कि अधिकारी ने लगा लिया गले

सरकार की अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) का देशभर के कई स्थानों पर विरोध हो रहा है। पानीपत में विरोध प्रदर्शन के दौरान जब एक युवा ने रोते हुए अपने मन का दर्द बताया तो ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने उसे गले लगा लिया।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) का देश में कई स्थानों पर विरोध में हो रहा है। आज कांग्रेस ने जंतर-मंतर पर इस योजना के खिलाफ सत्याग्रह कर विरोध जताया है। प्रियंका गाँधी समेत कांग्रेस के कई बड़े और पुराने नेता इस सत्याग्रह में शामिल हुए हैं। वहीं शनिवार को पानीपत में विरोध प्रदर्शन के दौरान जब प्रदर्शनकारियों को समझाइश देने पहुंचे ड्यूटी मजिस्ट्रेट LDM कमल गिरधर से एक युवक ने रोते हुए पूछा कि “यदि आपके बच्चे होते तो आप क्या करते सर”। तब कमल गिरधर ने उसे गले लगाकर ढाढस बंधाते हुए कहा कि बेटा तू भी मेरा बेटा है। इसके बाद उन सभी युवाओं को शांत कर उनके घर भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें – Agnipath Scheme Protest : अग्निपथ योजना के खिलाफ कांग्रेस का सत्याग्रह, जंतर-मंतर पर प्रियंका समेत कई दिग्गज नेता मौजूद

दरअसल युवाओं में सरकार की इस agnipath स्कीम के खिलाफ आक्रोश है। उनका इलज़ाम है कि सर्कार उनकी 4 साल की मेहनत ख़राब कर रही है। उनका कहना है कि सेना की नौकरी से ही उम्मीद थी पर अब सरकार ने उसे भी 4 साल की बनाकर रख दिया। युवा इस 4 साल की नौकरी के बाद क्या करेंगे। उन्होंने आशंका जताते हुए कहा कि इन 4 साल में युवा गोली चलाना सीखेंगे और नौकरी से रिटायर होने के बाद बाहर आकर गोलियां चलाएंगे और अपराधी बनेंगे। प्रदर्शनकारी युवाओं ने 20 जून को दिल्ली जाकर प्रदर्शन और विरोध करने की भी बात कही।

यह भी पढ़ें – Agnipath Scheme को लेकर युवाओं के पक्ष में आईं सोनिया गांधी, पत्र लिखकर की शांतिपूर्ण आंदोलन की अपील

पानीपत पुलिस ने किसी अनहोनी की आशंका के चलते स्थिति टालने के लिए प्रदर्शनकारी युवाओं का नाम, पता और मोबाइल नंबर नोट कर लिया। ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से इन सभी की साड़ी जानकारियां नोट की जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि पानीपत में प्रदर्शन शांतिपूर्वक रूप से किया जा रहा है इसीलिए किसी भी प्रदर्शनकारी युवा पर कोई भी मुकदमा दर्ज नहीं किया जाएगा।