आजादी का अमृत महोत्सव : पीएम मोदी ने गांधी, नेहरू और पटेल को किया याद

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra modi) ने 12 मार्च को आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर आयोजित होने वाले अमृत महोत्सव (Amrut mahotsava) का उद्गाटन किया। साल 2022 में देश की आजादी के 75 साल पूर्ण होने जा रहे हैं। पीएम मोदी ने अहमदाबाद में ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ का शुभारंभ किया। उन्होने आजादी के अमृत महोत्सव की वेबसाइट लॉन्च की साथ ही एक चरखे का अनावरण भी किया। इसी के साथ ऐतिहासिक दांडी मार्च की स्मृति में साबरमती से दांडी तक की पदयात्रा को भी हरी झंडी दिखाई।

ये भी देखिये- MP News: मध्य प्रदेश के 52 जिले होंगे आज़ादी अमृत महोत्सव के साक्षी, शिवराज करेंगे शुभारंभ

इस अवसर पर संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने पंडित जवाहरलाल नेहरू, बाबा साहेब अंबेडकर, मौलाना आजाद व सरदार पटेल को याद करते हुए कहा कि हम उनके सपनों का भारत बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। पीएम ने कहा कि अमृत महोत्सव 15 अगस्त 2022 से 75 सप्ताह पूर्व आज से प्रारंभ हुआ है और 15 अगस्त 2023 तक चलेगा। उन्होने कहा कि देश के इतिहास में ऐसे कई संघर्ष रहे हैं जिनका आज तक नाम नहीं लिया जाता है लेकिन सभी का अपना महत्व है। पीएम ने कहा कि भारत की उपलब्धियां सिर्फ हमारी नहीं है, बल्कि ये पूरी दुनिया को रोशनी दिखाने और मानवता के लिए उम्मीद जगाने वाली है। इस मौके पर पीएम मोदी ने तमिलनाडू की महारानी वेलू नाचियार को याद करते हुए कहा कि उन्होने अंग्रेजो के खिलाफ पहली लड़ाई लड़ी थी। मिजेरम के पासल्था खुन्गचेरा ने अंग्रेजों का विरोध किया और देश के हर हिस्से से जाने कितने युवा, दलित, आदिवासी तथा महिलाओं ने आजादी के यज्ञ के लिए अपनी आहुति दी। पीएम मोदी ने कहा कि अमृत महोत्सव का अर्थ नए संकल्पों का अमृत है, नए विचारों का अमृत है।