Best Street Food: देश ही नहीं विदेशों में भी फेमस है ये स्वादिष्ट व्यंजन, स्वाद ऐसा कि दिन भर लगती है दीवानों की लाइन

Best Street Food

Best Street Food of Bihar: भारत एक ऐसा देश है जो अपनी विविधताओं के चलते दुनिया भर में पहचाना जाता है। यहां के हर राज्य की अपनी अलग पहचान है। हर थोड़ी दूरी पर आपको यहां की परंपरा, परिधान, बोली और खाने-पीने की चीजों में बदलाव देखने को मिलेगा। यही वजह है कि पर्यटक अक्सर ही भारत के प्रति आकर्षित होते हैं।

यहां हर राज्य में पहुंचने के बाद आपको परंपरा और बोली के साथ खाने का अलग स्वाद भी चखने के लिए मिलेगा। मध्यप्रदेश का नमकीन जहां विदेशों तक जाता है तो राजस्थान की दाल बाटी किसी का भी दिल जीत सकती है। गुजरात के फेफड़े और ढोकले अच्छे-अच्छे को दीवाना बना देते हैं तो वैसे ही बिहार का लिट्टी चोखा यहां के लोगों के लिए जन्नत से कम नहीं है।

लिट्टी चोखा है Best Street Food

बिहार अपनी संस्कृति और परंपरा के लिए देशभर में पहचाना जाता है और लिट्टी चोखा यहां की एक ऐसी देश है जो स्थानीय लोगों की दिनचर्या में शामिल है और जब पर्यटक यहां पर पहुंचते हैं तो इसका स्वाद उनका भी मन मोह लेता है। बिहार के अलग-अलग क्षेत्रों में इस डिश को बनाने का अंदाज ही अलग है। यही वजह है कि देश के साथ विदेशी पर्यटक भी इसकी और आकर्षित होते हैं।

Best Street Food

जब आप बिहार पहुंचेंगे तो पटना और इसके आसपास के क्षेत्रों में सेंकुआ लिट्टी खाने के लिए मिलेगी। वहीं कोसी क्षेत्र में तेल में फ्राई किया हुआ लिट्टी चोखा पसंद किया जाता है। बिहार में कई जगह पर आपको यह स्ट्रीट फूड खाने के लिए मिल जाएगा लेकिन इसमें गेहूं के आटे के साथ मैदे का उपयोग भी करने लगे हैं।

आज हम आपको एक ऐसी जगह की जानकारी देते हैं जहां पर लिट्टी बनाने के लिए सिर्फ गेहूं के आटेइस्तेमाल किया जाता है और यही वजह है कि यहां की इस डिश का स्वाद बहुत निराला होता है और बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ यहां पर पहुंचती है। आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन यहां पर रोज 1 क्विंटल आटे की लिट्टी तैयार की जाती है। इस संख्या को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह जगह कितनी फेमस होगी।

Best Street Food

बहुत प्रसिद्ध है हरिद्वार मिष्ठान भंडार

जब भी आप बिहार पहुंचे तो यहां के मधेपुरा जिले के मुरलीगंज बाजार पर हरिद्वार चौक पर मौजूद हरिद्वार मिष्ठान भंडार पर जाना बिल्कुल भी ना भूलें। यहां पर आपको बेहतरीन स्वाद की लिपटी और चना की घुघनी खाने को मिलेगी।

इस दुकान की शुरुआत है छोटी सी लिट्टी की दुकान से की गई थी लेकिन यह स्वाद लोगों को इतना पसंद आया कि यह दशकों से यहां पर चलती आ रही है। दुकान मालिक के मुताबिक दादाजी के बाद पिताजी, चाचाजी और अब वह खुद अपने भाइयों के साथ मिलकर इसे संचालित कर रहे हैं।

दुकान पर शहर के लोगों के अलावा आसपास के जिले से भी लोग स्वादिष्ट लिट्टी का स्वाद चखने के लिए पहुंचते हैं। पहले यहां पर सिर्फ लिट्टी और भूंजा ही मिला करता था लेकिन समय बदलने के साथ यहां पर कई अन्य व्यंजन और मिठाइयां भी मिलने लगी है जिसका स्वाद लोगों को बहुत पसंद आता है।

 

रोड पर लग जाती है भीड़

दिनभर ही यहां पर ग्राहकों की भीड़ देखी जाती है लेकिन दोपहर के समय में काफी तादाद में लोग यहां पर पहुंचते हैं और स्वादिष्ट लिट्टी स्वाद लेते हुए नजर आते हैं। यह हो जाती है कि दुकान में जगह नहीं बस्ती और लोग रोड पर खड़े होकर इस स्वादिष्ट व्यंजन का आनंद लेते हैं।

इस दुकान पर मिलने वाले बिहार के इस खास व्यंजन का स्वाद इतना निराला है कि कुछ लोग बचपन से लेकर अब तक इस स्वाद को चखते आ रहे हैं और उनका कहना है कि इतने सालों में उन्होंने कभी भी इसमें बदलाव महसूस नहीं किया है।

लिट्टी के स्वाद और गुणवत्ता में कभी भी कोई समझौता नहीं किया गया है यही वजह है कि दशकों पुराने यह दुकान आज भी ग्राहकों की विश्वसनीय है और वह यहां के स्वाद का आनंद बड़े ही चाव से लेते हुए नजर आते हैं। आम लोगों के साथ राजनेताओं को भी इस डिश का स्वाद अपनी और निभाता है। शायद ही ऐसा होता होगा जब इस दुकान के सामने से गुजरने वाला कोई नेता यहां की लिट्टी का स्वाद ना चखे।

ऐसे बनती है लिट्टी

दुकान पर कारीगर जो लिपटी तैयार करते हैं उसे गेहूं के आटे और चने से तैयार किया जाता है जो पूरी तरह से शुद्ध होते हैं। इसमें इस्तेमाल किए जाने वाले मसाले को भी हाथों से तैयार किया जाता है। इसे आज भी उसी नुस्खे के साथ बनाया जा रहा है जो दशकों पहले दुकानदार के दादाजी ने शुरू किया था।

लगभग 8 से 10 कारीगर इस दुकान पर काम करते हैं और दिन भर आने वाले लोगों को स्वादिष्ट लिट्टी का स्वाद चखाते हुए नजर आते हैं। वक्त बदलने के साथ दुकान का स्वरूप भले ही बदल गया हो लेकिन व्यंजन वैसा का वैसा ही है। यही वजह है कि लोग इस ओर आकर्षित होते हैं।

गर्मियों का मौसम शुरू हो चुका है और जल्द ही बोर्ड एग्जाम खत्म होने के बाद छुट्टियां लग जाएगी। ऐसे में अगर आपका बिहार जाने का प्लान है तो आप यहां के इस फेमस स्ट्रीट फूड का स्वाद चखना बिल्कुल ना भूलें और अगर मधेपुरा जाते हैं तो फेमस दुकान पर जाकर इस स्वादिष्ट का आनंद लें जरूर लें।


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News