Land for Job Case: ED का बड़ा एक्शन, लालू प्रसाद और परिवार की 6 करोड़ की संपत्ति जब्त

Atul Saxena
Published on -

Land for Job case Lalu Prasad Yadav : प्रवर्तन निदेशालय यानि ED ने लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार को बड़ा झटका दिया है, आज सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय ने लैंड फॉर जॉब मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार की 6 करोड़ रुपये की संपत्ति को जब्त कर लिया,बताया जा रहा है कि जब्त की गई संपत्तियां दिल्ली और गाजियाबाद में हैं। इससे पहले नौकरी के बदले जमीन (Land For Jobs) घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दिल्ली, पटना, मुंबई सहित देश के कई हिस्सों में तेजस्वी यादव समेत अन्य नेताओं के ठिकानों पर मार्च 2023 में छापेमारी की थी जिसके बाद ED ने बताया था कि उसे इस दौरान 600 करोड़ की कुल संपत्ति का पता लगा है।

लालू का परिवार “जमीन के बदले नौकरी” घोटाले की जांच के घेरे में है

गौरतलब है कि बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव और उनका परिवार कथित “जमीन के बदले नौकरी” घोटाले की जांच के घेरे में है,  सीबीआई की टीम ने लालू परिवार के कई सदस्यों से इस मामले में पहले भी पूछताछ कर चुकी है, वो अब एक बार फिर पूछताछ कर रही है इस बीच प्रवर्तन निदेशालय की इस कार्रवाई के लालू यादव के परिवार को तगड़ा झटका दिया है।

क्या है पूरा मामला?

दरअसल ये मामला उस समय का है जब लालू प्रसाद 2004 से 2009 के बीच रेल मंत्री थे, आरोप है कि मंत्री रहने के दौरान लालू और उनके परिवार को रेलवे में नौकरी के बदले ये संपत्तियां उपहार में दी गई या बेची गई,  इस मामले में ED और  सीबीआई  दोनों एजेंसियां जांच कर रही है,  सीबीआई ने अपने आरोप पत्र में कहा है कि भारतीय रेलवे के निर्धारित मानदंडों और प्रक्रियाओं का उल्लंघन करते हुए रेलवे में नियुक्तियां की गई थी।

लालू यादव परिवार ने जांच को बताया साजिश  

उधर इस मामले में लालू प्रसाद के परिवार का कहना है  जमीन के बदले नौकरी का मामला राजनीतिक साजिश के तहत एक बार फिर से उठाया गया है,  सीबीआई पहले दो बार इस केस में जांच कर चुकी है और उसे कोई साक्ष्‍य नहीं मिला था जिसके बाद सीबीआई ने केस को बंद कर दिया था अब सीबीआई इस मामले में पूछताछ कर क्‍या जानना चाह रही है।

INDIA गठबंधन में भी लालू प्रसाद यादव की है सक्रिय भूमिका

बहरहाल बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव अपनी अलग भाषा शैली के कारण चर्चा में रहते हैं , चारा घोटाले में ये सजा भी भुगत चुके हैं अभी पिछले दिनों INDIA गठबंधन में भी लालू की सक्रिय भूमिका दिखाई दी है ऐसे में 2024  लोकसभा चुनाव से पहले लालू परिवार की 6 करोड़ की संपत्ति को ED द्वारा करना बड़ा पॉलिटिकल  मुद्दा बन सकता है।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News