कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, सीएम को लिखा पत्र, जानें कब मिलेगा सातवें वेतनमान का लाभ?

राज्य के सभी विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के कर्मचारियों को सातवां वेतनमान देने की मांग है।

high court employees

रांची, डेस्क रिपोर्ट।7 Pay Commission: राष्ट्रीय जनता दल झारखंड के मुख्य प्रवक्ता डॉ मनोज कुमार ने झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखा है।इस पत्र में शिक्षकों-कर्मचारियों को 7वें वेतनमान का लाभ देने की मांग की गई है। पत्र में उन्होंने राज्य के सभी विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के कर्मचारियों को सातवां वेतनमान देने की मांग है।

यह भी पढे..MP News: लापरवाही पर पंचायत-रीडर निलंबित, 3 कर्मचारियों को नोटिस, वेतन काटा, 3 लाइन अटैच

आरजेडी प्रवक्ता डॉ मनोज ने पत्र में लिखा है कि 2016 में मुख्यमंत्री रघुवर दास के शासनकाल में इसकी घोषणा हुई थी, लेकिन वेतन पुनरीक्षण के 6 वर्ष पूरे होने के बावजूद विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय कर्मचारियों को सातवें वेतनमान के लाभ से वंचित रखा गया है, जिससे कर्मचारियों को आर्थिक के साथ साथ वित्तीय संकट से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने आगे लिखा है कि सातवें वेतनमान की उम्मीद में कई कर्मचारियों की मौत हो गई और सेवानिवृत्त हो चुके हैं, उन्होंने सीएम सोरेन से इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए जल्द सातवें वेतनमान का भुगतान करने की मांग की है।

यह भी पढ़े.. MPPSC 2021: हद है… क्या अब ऐसे सवाल भी परीक्षा में पूछे जाएंगे?

बता दे कि विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय के शिक्षकों को सातवां पुनरीक्षित वेतनमान का लाभ पिछले 2 वर्षों से मिल रहा है, लेकिन उसी संस्था में काम करने वाले शिक्षकेतर कर्मचारियों को इसका लाभ नहीं दिया जा रहा है।इसके चलते कर्मचारियों में रोष व्याप्त है और कई बार प्रदर्शन धरना देकर अपना विरोध भी जता चुके है।

कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, सीएम को लिखा पत्र, जानें कब मिलेगा सातवें वेतनमान का लाभ?