1 लाख से ज्यादा कर्मचारियों की सैलरी विभाग ने रोकी, ये है बड़ा कारण, जानें कब मिलेगा वेतन?

वित्त विभाग ने 26 दिसंबर को ही विभागों के सभी कर्मचारियों का ही पूर्ण वेतन रोकने का आदेश जारी कर दिया था, चुंकी एचआरएमएस पर सर्विस बुक, अन्य आवश्यक डाटा और E-पोस्टिंग मॉड्यूल का डाटा डालने की पूरी जिम्मेदारी डीडीओ की होती है, जो की अबतक पूरी ना हो सकी, हालांकि डाटा अपलोड होती ही सैलरी जारी कर दी जाएगी।

Employee Teacher Salary 2023: हरियाणा के लाखों सरकरी कर्मचारियों-शिक्षकों की दिसंबर की सैलरी अटक गई है, जिसके चलते कर्मचारियों-शिक्षकों में नाराजगी बढ़ने लगी है। खबर है कि ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर (HRMS) और E- पोस्टिंग पोर्टल पर डाटा अपलोड न होने के कारण राज्य के 19 विभागों के डेढ़ कर्मचारियों की सैलरी वित्त विभाग ने रोक दी है। खास बात तो ये है कि वित्त विभाग राज्य के सीएम मनोहर लाल खट्टर के पास है।

दरअसल, हरियाणा सरकार ने 31 दिसंबर और एक जनवरी को अवकाश होने के कारण 30 दिसंबर को सैलरी डे घोषित कर दिया था, बावजूद इसके जनवरी का एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी सैलरी जारी नहीं की गई है।   हैरानी की बात तो ये है कि 19 विभागों के 20 प्रतिशत कर्मचारियों का डाटा दोनों पोर्टल पर अपलोड नहीं किया गया है, जबकी वित्त विभाग ने जून 2022 में सभी विभागाध्यक्षों को E-पोस्टिंग मॉड्यूल का डाटा पूरा करने के निर्देश जारी किए थे ,जिसके चलते वित्त विभाग ने वेतन रोक दिया है।

वित्त विभाग ने 26 दिसंबर को ही विभागों के सभी कर्मचारियों का ही पूर्ण वेतन रोकने का आदेश जारी कर दिया था, चुंकी एचआरएमएस पर सर्विस बुक, अन्य आवश्यक डाटा और E-पोस्टिंग मॉड्यूल का डाटा डालने की पूरी जिम्मेदारी डीडीओ की होती है, जो की अबतक पूरी ना हो सकी, हालांकि डाटा अपलोड होती ही सैलरी जारी कर दी जाएगी।

 शिक्षकों का वेतन अटका

सरकारी कर्मचारियों के अलावा हरियाणा के सरकारी स्कूलों के शिक्षकों का भी ई-पोस्टिंग डाटा अपडेट न होने के कारण दिसंबर मास का वेतन नहीं मिल पाया है।इसके चलते शिक्षकों में भारी आक्रोश है। हरियाणा प्राइमरी टीचर एसोसिएशन ने इसे निदेशालय की गलती बताते हुए जल्द वेतन देने की मांग की है और ऐसा ना करने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

एसोसिएशन का आरोप है कि विभाग के शिक्षकों का ई-पोस्टिंग डाटा अपडेट करने का कार्य विभाग के अधिकारियों का है, लेकिन अधिकारियों द्वारा अबतक कर्मचारियों का डाटा किसी कारण से ई-पोस्ट नहीं किया जा सका है, इसके लिए प्रदेश के सभी शिक्षकों का वेतन रोक दिया गया। हरियाणा प्राइमरी टीचर एसोसिएशन सरकार से मांग करता है कि शिक्षकों का वेतन जल्द से जल्द जारी किया जाए।