Budget 2019-20 Live: मोदी सरकार आज पेश करेगी ‘अंतरिम बजट’, किसानों और युवाओं पर फोकस

budget-2019-date-piyush-goyal-to-present-interim-budget-on-febuary-one

नई दिल्ली।

लोकसभा चुनाव के चलते आज यानी 1 फरवरी को मोदी सरकार अंतरिम बजट पेश करने जा रही है।हर साल बजट वित्तमंत्री पेश करते हैं। चूंकि केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली इस वक्त अमेरिका में अपने इलाज के लिए गए हुए हैं, इसलिए पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। अंतरिम वित्तमंत्री के रूप में पीयूष गोयल आज बजट पेश करेंगे।  ऐसी उम्मीद है कि सरकार अंतरिम बजट में किसानों और युवाओं के लिए कई बड़े ऐलान कर सकती है। लोकसभा में सुबह 11 बजे अंतरिम बजट पेश होगा।

माना जा रहा है कि मोदी सरकार बजट में यूनिवर्सल बेसिक इनकम का ऐलान कर सकती है। हाल ही में राजस्थान सरकार ने इसे लागू किया है. इसके अलावा इनकम टैक्स में छूट की लिमिट को भी बढ़ाया जा सकता है। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र की एनडीए  सरकार के मौजूदा कार्यकाल का यह अंतिम बजट होगा।  परंपरा के मुताबिक, चुनाव के बाद आने वाली सरकार ही पूर्ण बजट पेश करेगी।वही आज बजट पेश होना है। इसलिए शेयर मार्केट गुरुवार को बढ़त के साथ बंद हुआ है। गुरुवार को सेंसेक्स 36,257 के स्तर पर बंद हुआ। जबकि निफ्टी 179 अंक के उछाल के साथ 10,831 पर बंद हुआ। इस बजट में कोई भी ऐसा फैसला नहीं किया जाता है जिसमें ऐसे नीतिगत फैसले हों जिसके लिए संसद की मंजूरी लेनी पड़े या फिर कानून में संशोधन की जरूरत हो। अंतरिम बजट की परंपरा है कि इसमें डायरेक्ट टैक्स, जिसमें इनकम टैक्स शामिल है, उसमें बदलाव नहीं किया जाता।

गौरतलब है कि आजादी के बाद देश में अब तक 14 बार अंतरिम बजट पेश हो चुका है। आज 15वीं बार देश में अतंरिम बजट पेश होगा। इसे लेखानुदान बजट भी कहा जाता है जिसके तहत एक सीमीत समय के लिए जरूरी खर्चे के लिए बजट पेश करती है। एनडीए सरकार की तरफ से अंतिम बार 2004 में जसवंत सिंह ने बजट पेश किया था।वही 2016 तक रेल बजट अगल से पेश किया जाता था। मौजूदा सरकार ने इस परंपरा को तोड़ते हुए रेल बजट को आम बजट में ही शामिल कर दिया है। रेल बजट अलग से पेश करने की परंपरा 92 साल पुरानी थी। इस बार की रेल बजट अंतरिम बजट के साथ ही पेश होगा। बता दें कि 21 जनवरी को हलवा रस्म के बाद बजट की छपाई का काम शुरू कर दिया गया था। 

बजट से पहले गैस के दामों में कटौती

अंतरिम बजट से कई तरह की राहत की उम्मीद कर रही आम जनता को पेट्रोलियम कंपनियों ने गुरुवार को एक बड़ी राहत दी है। इन कंपनियों ने गुरुवार मध्यरात्रि से सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर के दाम में 1.46 रुपये, जबकि गैर-सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम में 30 रुपये की कटौती की है।देश की सबसे बड़ी ऑयल मार्केटिंग कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आइओसी) के बयान के मुताबिक कटौती के बाद 14.2 किलोग्राम एलपीजी के साथ सब्सिडी वाला सिलेंडर 493.53 रुपये का, जबकि इतनी ही गैस के साथ गैर-सब्सिडी वाला सिलेंडर 659 रुपये का मिलेगा।

हो सकते है ये बड़े ऐलान

-कृषि क्षेत्र को छोटे और सीमांत किसानों के लिए 15,000 रुपये प्रति हेक्टेयर का प्रत्यक्ष निवेश समर्थन दिया जा सकता है।

-मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी द्वारा लागू की गई भावान्तर जैसी योजना केंद्र सरकार भी लागू कर सकती है।

-इसमें किसानों को फसल के बाजार मूल्य और उचित मूल्य के बीच के अंतर का भुगतान सरकार करती है।

-अंतरिम बजट में मध्य वर्ग के करदाताओं के लिए आयकर छूट की सीमा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये सालाना की जा सकती है।

-कॉर्पोरेट कर को 30 फीसदी से घटाकर 25 फीसदी किया जा सकता है।

-बजट में इनकम टैक्स स्लैब और रेट को लेकर महत्वपूर्ण घोषणाएं हो सकती हैं।

-फिक्सड डिपॉजिट, इंश्योरेंस प्रीमियम और 1.5 लाख से 2 लाख के म्युचुअल फंड में टैक्स ब्रेक को बढ़ाया जा सकता है।

-बजट में रेलवे ट्रेनों का परिचालन निजी क्षेत्र को सौंपने की घोषणा हो सकती है।

-युवाओं को लेकर बड़े ऐलान किए जा सकते है।

-अंतरिम बजट में कामकाजी महिलाओं से जुड़ा ऐलान संभव है।

– महिलाओं को मैटरनिटी के समय मिलने वाली सैलरी टैक्स फ्री हो सकती है।

-सरकार गांवों में किसानों के लिए चलाए जा रहे कल्याणकारी कार्यक्रमों पर होने वाले खर्च में 16 फीसद का इजाफा कर सकती है।