देश की बड़ी कंपनी TATA का कर्मचारियों को तोहफा, अब अपनी नौकरी कर सकेंगे ट्रांसफर

ट्रेनिंग पूरी होने के बाद उसे एक परीक्षा देनी होगी और जब वो परीक्षा पास कर लेगा तो नौकरी स्थाई हो जाएगी

जमशेदपुर, डेस्क रिपोर्ट।  देश की जाने माने उद्योग समूह टाटा (TATA) की टाटा स्टील (TATA STEEL) अपने कर्मचारियों के लिए नई स्कीम लेकर आई है , नई स्कीम के तहत अब टाटा स्टील में काम करने वाला कोई भी कर्मचारी अपने परिजन यानि आश्रित को नॉमिनी बनाकर अपनी नौकरी ट्रांसफर (Job Transfer) कर सकेगा। इसके अलावा समय से पूर्व रिटायरमेंट लेने वाले कर्मचारी लिए अर्ली सेपरेशन स्कीम (Early Separation Scheme) भी कंपनी आकर्षक लाभ देने की स्कीम लेकर आई है।  ये दोनों स्कीम 1 नवम्बर से लागू होंगी।

टाटा स्टील “सुनहरे भविष्य की योजना” के नाम से एक योजना लांच कर रही है, इसमें ये दोनों स्कीम शामिल की गई हैं।  कंपनी जल्दी ही इसका सर्कुलर कर्मचारियों के बीच जारी करने वाली है।आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक टाटा स्टील ने अपने कर्मचारियों को तोहफा देते हुए “जॉब फॉर जॉब” स्कीम बनाई है इस स्कीम के तहत टाटा स्टील में कार्यरत कोई भी कर्मचारी पुत्र, पुत्री, दामाद या किसी अन्य को नॉमिनी घोषित कर अपनी नौकरी उसे ट्रांसफर कर सकता है।

टाटा स्टील की “सुनहरे भविष्य की योजना” के तहत दूसरी स्कीम है “अर्ली सेपरेशन स्कीम” यानि जो कर्मचारी समय से पहले रिटायरमेंट लेते हैं उन्हें आकर्षक लाभ देने की योजना कंपनी ने बनाई है।  कर्मचारी एक साथ दोनों योजना का लाभ ले सकता है।  कंपनी इसे 1 नवम्बर से लागू करने वाली है।

ये भी पढ़ें – MP उपचुनाव से पहले एक और मास्टर स्ट्रोक, अब दिग्गज नेता समर्थकों के साथ BJP में शामिल

आश्रित को पास करनी होगी परीक्षा 

अधिकृत जानकारी के मुताबिक “जॉब फॉर जॉब स्कीम” के तहत नौकरी ट्रांसफर करने वाले कर्मचारी की न्यूनतम आयु 52 वर्ष होनी चाहिए।  कर्मचारी जिस आश्रित को नौकरी ट्रांसफर करेगा उसे पहले ट्रेनी के तौर पर रखा जायेगा।  ट्रेनिंग पूरी होने के बाद उसे एक परीक्षा देनी होगी और जब वो परीक्षा पास कर लेगा तो नौकरी स्थाई हो जाएगी।  असफल होने पर नौकरी नहीं मिलेगी।

ये भी पढ़ें – दिवाली से पहले पेंशनरों को बड़ी सौगात, 19% DA और 4% RI, हर महीने मिलेगी पेंशन

“अर्ली सेपरेशन स्कीम” के लिए आयुसीमा 45 वर्ष 

जानकारी के अनुसार “अर्ली सेपरेशन स्कीम” के तहत वैसे कर्मचारी लाभान्वित होंगे जिनकी जिनकी उम्र कम से कम 45 वर्ष है।  अर्ली सेपरेशन स्कीम के तहत समय से पहले रिटायरमेंट लेने वाले कर्मचारी को  रिटायरमेंट की आयु वाले दिन तक बेसिक, डीए की रकम, मेडिकल सुविधा और योजना का लाभ लेने से 6 साल तक क्वार्टर में रहने की सुविधा मिलेगी।

ये भी पढ़ें – BCCI चैलेंजर ट्रॉफी में ग्वालियर की अनुष्का होंगी “इंडिया बी” की कप्तान, MP की दो और बेटियां का भी चयन

दोनों स्कीम का एक साथ लाभ लेने की उम्र 50 साल 

“सुनहरे भविष्य की योजना” के तहत ” जॉब फॉर जॉब” और “अर्ली सेपरेशन स्कीम” दोनों का एक साथ लाभ लेने वाले कर्मचारी के लिए कंपनी ने आयुसीमा 50 वर्ष निर्धारित की है। यदि कर्मचारी दोनों योजना का लाभ लेना चाहता है तो उसे आवेदन करते समय फॉर्म में स्विच ओवर के ऑप्शन को सिलेक्ट करना होगा।  ऐसे कर्मचारी को 55 वर्ष तक बेसिक, डीए की कुल राशि मिलती रहेगी फिर इस आयु के बाद उसका नॉमिनी आश्रित जॉब फॉर जॉब के लिए आवेदन कर सकेगा।