मशहूर शायर मुनव्वर राना का तालिबान के समर्थन में बयान, कहा- ‘वो आतंकी नहीं’

लखनऊ, डेस्क रिपोर्ट। अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा हो गया है और वहां के हालात को लेकर भारत सहित में भी राजनीतिक बयानबाजियां जारी हैं। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना सज्जाद नोमानी और सपा सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क जहां तालिबान की हिमायत में सामने आ गए हैं, वहीं अब मशहूर शायर मुनव्वर राना ने भी  तालिबान को लेकर विवादित बयान दिया है।

रिश्वत मांग रहा कंपाउंडर चढ़ा लोकायुक्त के हत्थे, कैदी के इलाज के लिए मांगे रुपये

मुनव्वर राना ने एक इंटरव्यू में कहा कि तालिबान ने सही किया है और अपनी जमीन पर तो किसी भी तरह कब्जा किया जा सकता है। उन्होने कहा कि तालिबान आतंकी संगठन हो सकता है लेकिन वो अपने मुल्क के लिए लड़ रहे हैं तो हम उन्हें आतंकी कैसे कह सकते हैं। मुनव्वर राणा ने तालिबान की हिमायत करते हुए कहा कि हम उन्हें एग्रेसिव कह सकते हैं लेकिन आतंकी या आतंकवादी नहीं कह सकते। इसी के साथ उन्होने तालिबान की तुलना महर्षि वाल्मीकि से कर डाली और कहा कि वाल्मीकि जी पहले क्या थे और बाद में क्या हो गए। इसी तरह तालिबानी भी पहले से काफी बदल चुके हैं। वहीं उन्होने कहा कि हिदुस्तान को अफगानिस्तान से नहीं बल्कि पाकिस्तान से डरने की जरूरत है क्योंकि तालिबानियों का कश्मीर से कोई मतलब नहीं है।