आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं के लिए अच्छी खबर, मानदेय में हो सकती है वृद्धि, लोकसभा में उठी सेवा स्थायी करने की मांग

Anganwadi Workers Honorarium: देशभर में फिर से आंगनबाड़ी सहायिका और कार्यकर्ताओं के मानदेय में वृद्धि देखी जा सकती है। इसके लिए विभिन्न दलों द्वारा सरकार से लोकसभा में बड़ी मांग की गई है। मानदेय बढ़ाने के अलावा कर्मचारियों की सेवा स्थाई करने और आंगनबाड़ी केंद्रों की स्थिति पर ध्यान देने की भी मांग की जा रही है।

आंगनबाड़ी सेविकाओं को दिया जाना चाहिए स्थाई स्वास्थ्य कार्ड 

लोकसभा में गैर सरकारी कामकाज के तहत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के लिए कल्याणकारी कदम पर संकल्प जारी किया गया है। जिसपर बोलते हुए बीजेपी के गोपाल शेट्टी ने कहा कि आंगनबाड़ी सहायिकाओं ने स्वास्थ्य क्षेत्र में क्रांतिकारी काम किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना के समय आंगनबाड़ी सहायकों ने बहुत काम किया है। ऐसे में आने वाले दिनों में स्वास्थ्य क्षेत्र की सभी केंद्रीय योजनाओं का दायरा बढ़ाया जाना चाहिए और आंगनबाड़ी सेविकाओं को स्थाई स्वास्थ्य कार्ड भी दिया जाना चाहिए।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का चयन कर बनाया जाए नर्स

इसके अलावा केंद्र सरकार से मांग की गई है कि अच्छा काम करने वाले आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का चयन कर उन्हें 2 साल का प्रशिक्षण देकर नर्स बनाया जाए। इसके अलावा आरएसपी के एन के प्रेमचंद्र ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की योग्यता और भर्ती प्रक्रिया के लिए महत्वपूर्ण दिशानिर्देश जारी किए जाएं।

मानदेय बढ़ाने की मांग

मानदेय बढ़ाने की मांग करते हुए भाजपा के निहालचंद ने मोदी सरकार से अपील की है कि आंगनबाड़ी सहायिकाओं को मानदेय को बढ़ाया जाए और वेतन की तरह ही उन्हें मानदेय प्रदान किया जाए। दानिश अली ने कहा कि आंगनबाड़ी कर्मचारियों की स्थिति में सुधार आवश्यक है। इसकी जिम्मेदारी सरकार को लेनी होगी। केरल में आंगनवाड़ी कर्मचारियों को ₹12000 प्रतिमाह मिल रहा है जबकि उत्तर प्रदेश में उनकी स्थिति बेहद ही दयनीय है, उन्हें सिर्फ ₹4000 उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इसे बढ़ाया जाना चाहिए।

कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि आंगनबाड़ी कर्मचारियों को बेहद का मानदेय मिलता है। जिस हालात में कर्मचारी काम कर रहे हैं, वह बेहद ही चुनौतीपूर्ण है। इस पर ध्यान देना आवश्यक है। कौशल विकास के साथ आंगनवाड़ी कर्मचारियों के लिए उन्नयन का काम किया जाना चाहिए।

आंगनबाड़ी केंद्रों पर सरकार का बड़ा फैसला

वही सब इधर उधर आकर सरकार से की गई मांग के वादे तो स्पष्ट है कि आने वाले दिनों में आंगनबाड़ी सहायिका और कर्मचारियों के मानदेय में वृद्धि देखने को मिल सकती है। इसके अलावा आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए भी सरकार बड़ा फैसला ले सकती है।

आंगनबाड़ी केंद्र के लिए धनराशि की घोषणा की जाए

इसके साथ उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की है कि उच्च तकनीक वाले आंगनबाड़ी केंद्र के लिए धनराशि की घोषणा की जाए और कई आंगनबाड़ी केंद्रों की स्थिति बेहद खराब है। उन पर ध्यान दिया जाए। इसके साथ ही कांग्रेस के जसवीर गिल ने मांग की है कि आंगनबाड़ियों की नौकरियों को पक्का किया जाना चाहिए।