IPS Transfer 2024: राज्य में चली तबदला एक्सप्रेस, 4 आईपीएस अधिकारी इधर से उधर, आदेश जारी, यहाँ देखें लिस्ट 

राज्य में 4 आईपीएस अधिकारियों का स्थानंतरण हुआ है। दो जिलों में एसपी बदले गए हैं। आइए जानें किसे कौन-सी जिम्मेदारी सौंपी गई है?

Manisha Kumari Pandey
Published on -
ips transfer

IPS Transfer 2024: झारखंड में इंडियन पुलिस सर्विस के चार अधिकारियों का तबादला हुआ है। अधिकारियों को नई जिम्मेदारी सौंपी गई है। मंगलवार को गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने स्थानंतरण का आदेश जारी किया है। रांची और देवघर को नए पुलिस अधीक्षक (SP) मिले हैं। वहीं दो पुलिस महानिदेशकों को भी इधर से उधर किया गया है। इन अधिकारियों के नाम अजित पीटर डुंगडुंग, क्रांति कुमार गड़िदेशी, श्रीमती अन्नेयू विजयलक्ष्मी और राकेश रंजन है।

देवघर में अजित पीटर की वापसी

आईपीएस ऑफिसर अजित पीटर डुंगडुंग फिर से देवघर वापस आ गए हैं। उन्हें रांची पुलिस अधीक्षक पद से हटाकर देवघर के एसपी पद पर तैनात किया गया है। बता दें कि चुनाव आयोग द्वारा उन्हें देवघर एसपी के पद से हटा दिया था।

क्रांति कुमार की हुई पोस्टिंग

आईपीएस क्रांति कुमार गड़िदेशी को अगले आदेश तक दुमका पुलिस महानिरीक्षक (IG) पद पर पदस्थ किया गया है। वह हाल ही में केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति से लौटे हैं और अपनी नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं।

इन्हें बनाया गया रांची पुलिस महानिरीक्षक

दुमका में आईजी पद पर तैनात श्रीमती अन्नेयू विजयलक्ष्मी को रांची में पुलिस महानिरीक्षक पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

कौन हैं रांची के नए एसपी?

राकेश रंजन को रांची का नया एसपी बनाया गया है। वह पहले देवघर एसपी पद पर तैनात थे। साथ ही समादेष्टा, जैप-5, देवघर का अतिरिक्त प्रभार भी संभाल रहें थे।

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News