शादी से 18 दिन पहले मिली बेटे के शहीद होने की खबर, पिता बांट रहे थे कार्ड

Major-Chitresh-Singh-Bisht-from-Dehradun-lost-his-life-while-defusing-an-IED

नई दिल्ली। पुलवामा हमले के दो दिन बाद कश्मीर में शनिवार को एक बार फिर आईईडी विस्फोट हुआ। इस विस्फोट में मेजर चित्रेश बिष्ट शहीद हो गए। उसकी सात मार्च को शादी होना थी। उनकी पिता रिटायर इंस्पेक्टर पिता सुरेंद्र सिंह बिष्ट रिश्तेदारों में शादी के कार्ड बांट रहे थे। जैसे ही मेजर के शहीद होने की खबर परिवार तक पहुंची सब सन्न रह गए। परिवार के होश उड़ गए उनके दुख का कोई ठिकाना न रहा। 

शादी के लिए 28 को आने वाले थे घर 

शहीद चित्रेश के पिता एसएस बिष्ट शनिवार को गांव में शादी के कार्ड भेजने के लिए आईएसबीटी गए थे। कल रात उनसे चित्रेश ने बात की थी, वह 28 को घर आने वाले थे। शादी को लेकर लंबी बातचीत हुई कि अब क्या-क्या काम बाकी रह गया। 

शेरवानी और सूट भी तैयार 

मेजर चित्रेश पिछले महीने ही घर आए थे। उन्होंने ज्यादातर खरीदारी भी कर ली थी। शेरवानी से लेकर शूट तक तैयार कर लिया गया था। जब वे दो फरवरी को वापस ड्यूटी लौटे, तो मम्मी, पापा को से कहकर गए थे कि बस कार्ड बांट लेना। बाकी बाजार के काम मेरे आने के बाद कर लेंगे।