Modi Cabinet: प्रियंका गांधी ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र, की यह बड़ी मांग

देश की कानून व्यवस्था की जिम्मेदार गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) और उत्तर प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आप के केन्द्रीय राज्य गृह मंत्री के साथ मंच साझा कर रहे हैं।

प्रियंका गांधी

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी (Union Minister Ajay Mishra Teni) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। अब कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने देश पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने मोदी से केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को मोदी कैबिनेट (Modi Cabinet) से बर्खास्त करने की मांग की है।वही प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर लखनऊ आगमन पर उनका स्वागत किया है।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों-अधिकारियों के लिए गुड न्यूज, नवंबर में मिलेगी बकाए एरियर की राशि, 9 लाख तक होगा लाभ

दरअसल, प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने पत्र में लिखा है कि आपने तीन कृषि काले कानूनों (3 agriculture law withdrawn) को किसानों पर थोपने के अत्याचार को स्वीकार करते हुए उन्हें वापस करने की घोषणा की। मैंने अखबार में पढ़ा है कि आज आप लखनऊ में होने वाले DGP कॉन्फ्रेंस में देश की कानून व्यवस्था संभालने वाले आला अधिकारियों से चर्चा करेंगे।लखीमपुर किसान नरसंहार में अन्नदाता ओं के साथ क्रूरता को पूरे देश ने देखा है। आपको यह जानकारी भी है कि किसानों को अपनी गाड़ी से कुचलने का मुख्य आरोपी आप की सरकार में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री का बेटा है।

प्रियंका ने लिखा है कि  इस मामले में उच्चतम न्यायालय (Supreme court) भी सरकार की मंशा पर सवाल उठा चुका है। प्रियंका ने लिखा है कि महोदय, मै लखीमपुर में शहीद किसानों (Farmers) के परिजनों से मिली हूं। वे असहनीय पीड़ा में है और वे सब परिजनों के लिए न्याय चाहते हैं।देश की कानून व्यवस्था की जिम्मेदार गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) और उत्तर प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आप के केन्द्रीय राज्य गृह मंत्री के साथ मंच साझा कर रहे हैं।

यह भी पढ़े… मप्र पंचायत चुनाव : अधिकारियों-कर्मचारियों के लेकर ये निर्देश जारी, 22 नवंबर को बैठक

प्रियंका ने लिखा है कि लखीमपुर किसान नरसंहार मामले में पीड़ितों को न्याय दिलवाना आपके लिए सर्वोपरि होना चाहिए। प्रियंका ने यह भी कहा है कि यदि इस कॉन्फ्रेंस में आप टेनी के साथ मंच साझा करते हैं तो पीड़ित परिवारों में गलत संदेश जाएगा। ऐसे में यदि देश के किसानों के प्रति आपकी नीयत सचमुच साफ है तो आज अपने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के साथ मंच पर विराजमान मत होइए। उनको बर्खास्त कर दीजिए। इसके साथ ही देश भर में किसानों पर चल रहे मुकदमों को वापस लेने और सभी किसानों के परिजनों को आर्थिक अनुदान देने की मांग भी प्रियंका ने की है।