कांग्रेस नेता मोहम्मद शरीफ नियाज का निधन, पार्टी में शोक लहर

कांग्रेस नेता पहली बार 1987 में विधायक बने थे और 3 बार पूर्व जम्मू कश्मीर की विधानसभा के सदस्य रहे और एमएलसी भी रहे। जब पूर्व जम्मू-कश्मीर में साल 2002 में पीडीपी-कांग्रेस की सरकार बनी थी तो नियाज बिजली मंत्री बने थे।

congress-leader

जम्मू, डेस्क रिपोर्ट। वरिष्ठ कांग्रेस नेता (Congress leader) और पूर्व मंत्री मोहम्मद शरीफ नियाज (Mohammad sharif niaz) का निधन हो गया है। 75 वर्ष के नियाज करीब एक महिने से बीमार चल रहे थे और जम्मू के मेडिकल कॉलेज अस्पताल (Medical College Hospital) में भर्ती थे। वह पिछले कुछ दिनों से ऑक्सीजन सपोर्ट सिस्टम पर थे। सोमवार को इलाज के दौरान उन्होंने जीएमसी में अंतिम सांस ली।

यह भी पढ़े…वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री का कोरोना से निधन, इलाज के दौरान अस्पताल में तोड़ा दम

नियाज पहली बार 1987 में विधायक बने थे और 3 बार पूर्व जम्मू कश्मीर की विधानसभा के सदस्य रहे और एमएलसी भी रहे। जब पूर्व जम्मू-कश्मीर में साल 2002 में पीडीपी-कांग्रेस (PDP-Congress) की सरकार बनी थी तो नियाज बिजली मंत्री बने थे। साल 2006 में नियाज ने गुलाम नबी आजाद के लिए अपनी भद्रवाह विधानसभा सीट को छोड़ दिया था और बाद में उन्हें विधान परिषद का सदस्य बनाया गया था।साल 2009 में नियाज फिर से भद्रवाह से सीट से चुने गए थे।

 कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के करीबी थे शरीफ

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) के नजदीकी रिश्तेदार मोहम्मद शरीफ नियाज मिलनसार नेता थे। उनका पार्टी और कार्यकर्ताओं के बीच बहुत सम्मान था।कांग्रेस की पूरी रैंक और फाइल ने नियाज के निधन पर शोक व्यक्त किया। जेकेपीसीसी के अध्यक्ष जीए मीर और अन्य वरिष्ठ नेताओं ने उनके निधन पर शोक और शोक व्यक्त किया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here