New Criminal Laws : आम आदमी पार्टी बोली नए कानून से न्यायपालिका पर अतिरिक्त भार पड़ेगा, भाजपा ने अपने लिए खोले भ्रष्टाचार के नए दरवाजे

जो ये कानून 140 से ज़्यादा सांसदों को निलंबित करके बिना चर्चा के बनाए गए हैं इससे निश्चित है कि अब न्यायपालिका पर ज्यादा भार पड़ेगा । आप उन क़ानूनों को पढ़ेंगे तो पाएंगे कि पुलिस को ज़्यादा व्यापक शक्ति दी गई है, जिससे भाजपा के लिए भ्रष्टाचार का एक नया दरवाज़ा खुल गया है।

Atul Saxena
Published on -
court

New Criminal Laws : आज 1 जुलाई से देश में नए आपराधिक कानून लागू हो गए हैं  भारत में अब भारतीय न्याय संहिता (BNS ) भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता (BNSS) और भारतीय साक्ष्य अधिनियम (BSA) ये तीन कानूनों के आधार पर पुलिस थानों में अपराध पंजीबद्ध होगा, अब अंग्रेजों के शासन के समय से चली आ रही IPC, CRPC की धाराओं में अपराध पंजीबद्ध नहीं होंगे।

अब न्यायपालिका पर ज्यादा भार पड़ेगा :AAP

आपम आदमी पार्टी ने नए आपराधिक कानून लागू करने पर मोदी सरकार के फैसले पर सवाल उठाये हैं भाजपा प्रवक्ता और वरिष्ठ वकील प्रियंका कक्कड़ ने मीडिया से कहा कि जो कानून अभी कानून चल रहे थे उसमें 13 साल चर्चा हुई , 6 लॉ कमीशन बैठे तब बहुत से संशोधन के बाद 1973 में नए कानून लागू किये गए लेकिन अब जो ये कानून  140 से ज़्यादा सांसदों को निलंबित करके बिना चर्चा के बनाए गए हैं इससे निश्चित है कि अब न्यायपालिका पर ज्यादा भार पड़ेगा ।

भाजपा के लिए भ्रष्टाचार का नया दरवाजा खुल गया  

आप उन क़ानूनों को पढ़ेंगे तो पाएंगे कि पुलिस को ज़्यादा व्यापक शक्ति दी गई है, जिससे भाजपा के लिए भ्रष्टाचार का एक नया दरवाज़ा खुल गया है। पहले कोर्ट के आदेश के बाद किसी की प्रॉपर्टी ज़ब्त की जाती थी अब पुलिस बिना कारण बताये पुलिस आपकी प्रॉपर्टी ज़ब्त सकती है, आपको गिरफ्तार कर सकती है। ये बहुत तकनीकी और अहम विषय है बिना किसी चर्चा के जल्दबाजी में इसे लागू नहीं करना चाहिए था

इसे जल्दबाजी में लागू नहीं किया जाना चाहिए : राघव 

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा ने कहा कि नए आपराधिक कानूनों पर AAP का शुरू से ही मानना ​​है कि इसकी समीक्षा होनी चाहिए। इसे JPC को भेजा जाना चाहिए। इसे जल्दबाजी में लागू नहीं किया जाना चाहिए। इसके दूरगामी परिणाम होंगे।

एक तुगलकी फरमान आज से पूरे देश में जारी : संजय सिंह 

भारतीय न्याय संहिता पर लागू करने पर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि जो लोग इन Criminal Laws से प्रभावित हो सकते हैं, BJP सरकार ने उन लोगों से बात किए बिना ही मनमाने ढंग से इन क़ानूनों को बनाया है। ये एक ‘तुगलकी फरमान’ है जो आज से पूरे देश में लागू हो रहा है।”

 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News