भारत में अब ड्रोन उड़ाना हुआ आसान, पढ़िए New Drone Policy के महत्वपूर्ण नियम

नैनो ड्रोन उड़ाने के लिए लायसेंस की जरुरत नहीं है। 

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र सरकार ने आज गुरुवार को नई ड्रोन पॉलिसी (New Drone Policy) की घोषणा कर दी। यदि आपके पास ड्रोन है और उसको उड़ाने के शौक़ीन हैं तो ये खबर आपके लिए महत्वपूर्ण हैं।सरकार द्वारा घोषित की गई नई ड्रोन पॉलिसी में बहुत बदलाव किया गया है।  इस उद्योग को बढ़ावा देने के लिए कई नियमों को आसान किया गया है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा है कि नई ड्रोन पॉलिसी का लाभ स्टार्ट अप शुरू करने वाले और इस फील्ड में पहले से काम कर रहे युवाओं को मिलेगा।

आसमान में उड़ते पक्षियों बीच उड़ान भरते ड्रोन (Drone) की संख्या में अब वृद्धि होगी क्योंकि केंद्र सरकार ड्रोन उड़ाने वालों की राह आसान कर दी है।  नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा तैयार नई ड्रोन पॉलिसी की घोषणा आज केंद्र सरकार ने कर दी। नई ड्रोन पॉलिसी की घोषणा के बाद अब यदि ड्रोनजरिये आपके घर कोई सामान भी पहुँच जाये तो आश्चर्य नहीं होगा। नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने भी नई ड्रोन पॉलिसी को अच्छा बताया है।

ये भी पढ़ें – Supreme Court में नए नौ जजों की नियुक्ति को मंजूरी, मिल सकती है पहली महिला CJI

जानिए नई ड्रोन पॉलिसी की 10 कुछ महत्वपूर्ण बातें  

1 – ड्रोन का कवरेज 300 किलोग्राम से बढ़ाकर 500 किलोग्राम कर दिया गया है।

2 – अब लायसेंस लेने से पहले सिक्युरिटी क्लीरिएंस लेने की जरुरत नहीं है।

3 – बुनियादी नियमों के उल्लंघन पर 1 लाख रुपये दंड रखा गया है।

4 – पहले परमिशन के लिए 25 फॉर्म भरने होते थे जो अब केवल 5 होंगे।

5 – डिजिटल स्काई प्लेटफॉर्म के माध्यम से सभी तरह के ड्रोन के रजिस्ट्रेशन कराये जा सकते हैं।

6 – ड्रोन को ट्रांसफर करने और डीरजिस्ट्रेशन को आसान कर दिया है।

7 – नैनो ड्रोन उड़ाने के लिए लायसेंस की जरुरत नहीं है।

8 – पायलट लायसेंस की प्रक्रिया सरल कर दी गई है।

9 – कार्गो ड्रोन के लिए ड्रोन कॉरिडोर्स बनाये जायेंगे।

10 – DGFT द्वारा ड्रोन और उसके पुर्जों के आयात को नियमित किया जाएगा।

ये भी पढ़ें – केंद्रीय मंत्री की तबियत बिगड़ी, अस्पताल में हुए भर्ती, इलाज जारी

ये भी पढ़ें – MP News: मप्र में शुरू हुई राष्ट्रीय शिक्षा नीति, बोले शिवराज- अग्रणी राज्य में शामिल होगा प्रदेश