PM Kisan: 11वीं किस्त पर बड़ी अपडेट, इस दिन खाते में आएंगे 2000! किसान ऐसे चेक अपना स्टेटस

अगर ‘FTO is generated and Payment confirmation is pending’ लिखा हुआ दिख रहा है तो समझ लीजिए खाते में जल्द पैसा आने वाला है।

PM KISAN

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।PM Kisan. 12 करोड़ किसानों के लिए काम की खबर है। पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi 11th Installment)की 11वीं किस्त जल्द ही आने वाली है। ताजा मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 15 मई से पहले किसानों के खाते में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा एक क्लिक में 11वीं किस्त के 2000 रुपए ट्रांसफर दिए जाएंगे। किसान अपने खाते पर अपडेट चेक करते रहे।

यह भी पढ़े.. Vyapam Recruitment 2022: एडमिट कार्ड जारी, 8 मई को होगी ये परीक्षा, 400 पदों पर होनी है भर्ती, जानें नियम

इसके लिए आप आप पोर्टल https://pmkisan.gov.in/ पर जाकर अपने पुराने पेमेंट का स्टेटस भी देख सकते हैं।अगर आपको पोर्टल पर Request For Transfer (RFT) दिख रहा है तो इसका मतलब है कि राज्य सरकार ने आपके डेटा को वेरिफाई कर लिया है और अब जल्द ही किस्त के पैसे मिल जाएंगे।  अगर ‘FTO is generated and Payment confirmation is pending’ लिखा हुआ दिख रहा है तो समझ लीजिए खाते में जल्द पैसा आने वाला है।

यह भी पढ़े.. अब प्रत्येक बुधवार और शुक्रवार IRCTC कराएगा Statue of Unity की सैर, यहाँ देखें टूर प्लान

दरअसल,  पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Yojana) योजना के तहत मोदी सरकार 2,000 रुपये की तीन किस्त यानी 6000 रुपये सालाना किसानों को देती है।हर 4 महीने में किसानों के अकाउंट में 2,000 रुपये ट्रांसफर किए जाते हैं। इसके तहत केंद्र सरकार 2 हेक्टेयर तक जमीन वाले किसानों को सालाना 6000 रुपये भेजती है।यह पैसा डीबीटी यानी डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए सीधे किसानों के खाते में पहुंचता है।अबतक 10 किस्त भेजी जा चुकी है। संभावना जताई जा रही है किअब मई के दूसरे हफ्ते तक किसानों के खाते में 11वीं किस्त की राशि ट्रांसफर होना शुरू हो जाएगी।

e-KYC अनिवार्य

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने के लिए मोदी सरकार ने e-KYC अनिवार्य कर दिया है और इसकी 31 मई डेडलाइन भी तय की है। इस दिन से पहले जिन भी किसानों का e-KYC पूरा नहीं होगा, वह 11वीं किस्त से वंचित रह जाएंगे।वही किसान अब OTP के जरिए आधार बेस्ड e-KYC पूरी कर सकते हें,सरकार ने यह सुविधा फिर से शुरू कर दी है।

PM Kisan Yojana- ये होंगे अपात्र

  • संवैधानिक पदों पर आसीन किसान, जो केंद्र या राज्य सरकार में सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी रहे हैं (ग्रुप डी कर्मचारियों को छोड़कर)
  • डॉक्टर, वकील, इंजीनियर, सीए जैसे पेशेवर अपनी प्रैक्टिस कर रहे हैं, 10,000 रुपये / माह से अधिक पेंशन वाले सेवानिवृत्त या सेवानिवृत्त पेंशनभोगी
  • फर्जी आधार कार्ड वाले किसान, जिन्होंने पीएम किसान ईकेवाईसी पूरा नहीं किया है
  • एक ही परिवार के एक से अधिक लाभार्थी, जिन्होंने पिछले वित्तीय वर्ष में आयकर रिटर्न दाखिल किया है, मृतक

यहां से चेक करते रहे अपना  स्टेटस

  • अगर आप पीएम किसान पार्टल के जरिए लाभार्थी का स्टेटस चेक कर रहे हैं तो आपकी मिलने वाली किस्त के स्टेटस में Waiting for approval by state दिखा रहा होगा।इसका मतलब यह है कि अभी आपके लिए किस्त जारी करने का अप्रूवल राज्य सरकार के पास अटका हुआ है।
  • जब आप पीएम किसान सम्मान निधि की वेबसाइट (https://pmkisan.gov.in/) पर जाकर अपना पेमेंट स्टेटस चेक ( Installment Payment Status) करते हैं तब कई बार आपको Rft Signed by State for 1st, 2nd, 3rd, 4th, 5th 6th, 7th, 8th, 9th, 10th, 11th instalment लिखा मिलेगा।
  • यहां Rft की फुलफार्म है Request For Transfer, जिसका मतलब हैं कि राज्य सरकार द्वारा लाभार्थी के डेटा की जांच कर ली गई है, जो की सही पाया गया है।
  • यदि आपको ‘FTO is generated and Payment confirmation is pending’ लिखा हुआ दिख रहा है तो इसका मतलब है कि फंड ट्रांसफर की प्रक्रिया शुरू हो गई है और किस्त जल्द ही आपके खाते में ट्रांसफर की जाएगी।

PM Kisan साइट पर चेक करें खाता

  • सबसे पहले pmkisan.gov.in वेबसाइट पर जाएं।
  • अब ‘Farmers Corner’ के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद लाभार्थी सूची (Beneficiary Status) पर क्लिक करें।
  • अब अपने राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव का नाम दर्ज करें।
  • फिर ‘Get Report’ ऑप्शन पर क्लिक करने पर पूरी लिस्ट खुलेगी।
  • किसान इस लिस्ट में आप अपनी किस्त का विवरण देख सकते हैं।

ऐसे करें ई-केवाईसी

स्टेप 1. पीएम किसान की वेबसाइट पर जाएं।
स्टेप 2. ‘फार्मर्स कॉर्नर’ के तहत e-KYC टैब पर क्लिक करें।
स्टेप 3. अगले पेज पर आधार नंबर डालें और सर्च टैब पर क्लिक करें।
स्टेप 4. इसके बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त होगा।
स्टेप 5. अब ‘सबमिट ओटीपी’ पर क्लिक करें और ओटीपी दर्ज कर दें।