सियासी हलचल : पूर्व मंत्री का बड़ा बयान- बेटा नहीं, मैं लडूंगा विधायक का चुनाव

पूर्व मंत्री ने कहा उनकी लोकप्रियता आज भी जनता के बीच है, रुद्रप्रयाग विधानसभा क्षेत्र (Rudraprayag Assembly Constituency) की जनता मुझे फिर से विधायक देखना चाहती है।

पूर्व मंत्री

रुद्रप्रयाग, डेस्क रिपोर्ट। आगामी चुनावों से पहले उत्तराखंड में सियासी (Uttarakhand Politics) हलचल तेज हो गई है। बीजेपी हो या कांग्रेस दोनों ही जीत का दम भर रहे है, ऐसे में पूर्व मंत्री मातबर सिंह कंडारी का बड़ा बयान सामने आया है। पूर्व मंत्री का कहना है कि अगर कांग्रेस (Uttarakhand Congress) टिकट देगी तो वे 2022 में विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे।वही उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि उनका बेटा चुनाव नहीं लड़ेगा यह सिर्फ विपक्ष द्वारा फैलाई जा रही कोरी अफवाह है।

यह भी पढ़े.. MPPSC के उम्मीदवारों को बड़ा झटका, 422 की दावेदारी निरस्त, ये है कारण

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबित,  पूर्व नेता प्रतिपक्ष और पूर्व सिंचाई मंत्री मातबर सिंह कंडारी (Former Minister Matbar Singh Kandari)  ने कहा पार्टी हाईकमान यदि टिकट देगी तो वह स्वयं चुनाव लड़ेंगे। बेटे को चुनाव लड़ाने को लेकर कुछ लोग भ्रम फैला रहे हैं।इनसे सावधान रहने की जरुरत है। मैंने रुद्रप्रयाग विधानसभा का दो बार प्रतिनिधत्व किया है और आज भी जनता उनके किये हुए कार्यो से काफी खुश हूं। मेरे बाद डॉ हरक सिंह रावत एवं भरत सिंह चैधरी रुद्रप्रयाग से विधायक बने, लेकिन दोनों ही नेताओं ने कोई भी ऐसा कार्य नहीं किया, जिसे जनता याद रख सके।

यह भी पढ़े.. MP News: 2 कर्मचारी निलंबित, 8 उपयंत्री समेत 9 की सेवा समाप्त, 3 का वेतन काटा

पूर्व मंत्री ने कहा उनकी लोकप्रियता आज भी जनता के बीच है, रुद्रप्रयाग विधानसभा क्षेत्र (Rudraprayag Assembly Constituency) की जनता मुझे फिर से विधायक देखना चाहती है, ऐसे में कुछ लोग बौखलाए हुए हैं और दुष्प्रचार कर रहे हैं। बेटे राजीव कंडारी का रुद्रप्रयाग विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने का कोई इरादा नहीं है लेकिन 2027 में घनसाली विधानसभा सीट सामान्य होने पर राजीव चुनाव लड़ेगा। 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से टिकट मिलने पर वे स्वयं चुनाव लड़ेंगे, अगर टिकट नहीं मिला तो चुनाव भी नहीं लड़ेंगे।