फिर बड़े आंदोलन की तैयारी में राकेश टिकैत, अब सरकार के इस फैसले का विरोध

केंद्र सरकार ऑस्ट्रेलिया से दूध आयात करने के लिए अगले महीने समझौता करने वाली है राकेश टिकैत ने इसके खिलाफ आंदोलन की चेतावनी दी है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। कृषि कानून वापस कराकर बड़े नेता बनकर उभरे राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) एक बार फिर केंद्र सरकार के खिलाफ बड़े आंदोलन की तैयारी में है।  राकेश टिकैत ने सरकार के ऑट्रेलिया से दूध आयात करने के फैसले के विरोध में बड़े आंदोलन की तैयारी शुरू कर दी है। उन्होंने आंदोलन की चेतावनी देना भी शुरू कर दी है।

कृषि कानूनों के खिलाफ लगभग एक साल तक चले किसान आंदोलन(Former Protest) की सफलता के बाद राकेश टिकैत एक बड़े किसान नेता बनकर सामने आये हैं।  हालाँकि ये आंदोलन संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर पर हुआ था और इसे हरियाणा, पंजाब सहित अन्य राज्यों के किसान संगठनों के नेताओं  ने लीड किया था लेकिन राकेश टिकैत सबसे बड़ा नाम बनकर उभरे।

ये भी पढ़ें – Madhya Pradesh: प्रगति पर शिवराज सरकार का ये मिशन, अबतक 45 लाख को मिला लाभ

राकेश टिकैत अब केंद्र सरकार के एक और फैसले का विरोध करने की रणनीति बना रहे हैं।  उन्होंने अपने ट्विटर हैंडिल पर एक पोस्ट शेयर की है जिसमें उन्होंने लिखा है – सरकार ऑस्ट्रेलिया के साथ दूध खरीदने को लेकर अगले माह समझौता करने जा रही है, जिसके तहत 20-22 रुपये प्रति लीटर दूध बेचने की योजना है। सरकार के विदेशों से दूध आयात करने के फैसले से देश के पशु पालकों के सामने अस्तित्व का संकट पैदा हो जाएगा। किसान इसका विरोध करेंगे।

ये भी पढ़ें – MP Corona: मप्र में बिगड़े हालात, आज 168 नए पॉजिटिव, एक्टिव केस 600 पार, CM ले सकते है बड़ा फैसला

टिकैत के इस ट्वीट को बहुत समर्थन मिल रहा है, कुछ घंटे पहले की गई इस पोस्ट को अब तक 5000 से ज्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है और 22 हजार से ज्यादा लोग लाइक कर चुके हैं।  टिकैत अब जहाँ भी जा रहे हैं इस आंदोलन की चर्चा कर किसानों को फिर से संगठित करने की कोशिश कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें – Lockdown 2022 : नए वेरिएंट ने बढ़ाई चिंता, राज्य में प्रतिबंध का दौर शुरू