वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री का निधन, पार्टी में शोक लहर

पाटिल कई दिनों से बीमार चल रहे थे और उनका मुंबई (Mumbai) के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। कुछ दिन पहले उन्हें नासिक (Nashik) ले जाया गया था।

नासिक, डेस्क रिपोर्ट। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता (Senior Congress Leader) और पूर्व मंत्री विनायकदादा पाटिल  (Vinaykdada Patil) निधन हो गया है। वे 77 वर्षीय  के थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे।  पाटिल के परिवार में दो बेटियां, दामाद और नाती-नातिन हैं। पाटिल को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar का करीबी माना जाता था। महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) ने पाटिल के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

बताया जा रहा है कि वे कई दिनों से बीमार चल रहे थे और उनका मुंबई (Mumbai) के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। कुछ दिन पहले उन्हें नासिक (Nashik) ले जाया गया था। शुक्रवार को उन्हें गुर्दा संबंधी रोग के इलाज के लिये नासिक के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली।

पाटिल राज्य के उद्योग, सांस्कृतिक मामलों, युवा एवं खेल मंत्री रह चुके थे।पाटिल को कृषि तथा वानिकी क्षेत्र और देशभर में जटरोफा की पैदावार में उनके योगदान के लिये जाना जाता है, यही कारण है कि ‘कुसुमगराज’ के नाम से मशहूर मराठी साहित्यकार दिवंगत वी वी शिरवाडकर ने पाटिल को ‘वनाधिपति’ की उपाधि दी थी।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने पाटिल के निधन पर शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया कि एक समय सरपंच रहे पाटिल महाराष्ट्र के मंत्री तक बने। उन्होंने राज्य और किसानों के कल्याण के लिये काफी काम किया।